ताज़ा खबर

NADA के दायरे में आने को तैयार हुआ BCCI, खेल सचिव आरएस जुलानिया ने की पुष्टि

2019-08-09_BCCI.jpg

दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई पर भारत सरकार अब नियंत्रण की तैयारी शुरू कर चुका है. अब बोर्ड ऑफ क्रिकेट कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया यानी BCCI भी NADA (नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी) के दायरे में आएगा. अब तक भारतीय क्रिकेट बोर्ड दूसरे खेलों की तरह इस एजेंसी की जद में नहीं था.

बीसीसीआई सीईओ राहुज जौहरी से शुक्रवार को मुलाकात के बाद खेल सचिव आरएस जुलानिया ने कहा कि, 'बोर्ड ने लिखित में दिया है कि वह नाडा की डोपिंग निरोधक नीति का पालन करेगा. बीसीसीआई के पास न कहने का कोई विकल्प नहीं है. सभी एक समान हैं, सभी को एक ही नियम का पालन करना होगा'.

आज बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी ने खेल सचिव और अधिकारियों से मुलाकात की. मंत्रालय के अधिकारियों ने पहले ही साफ कर दिया था कि वह बीसीसीआई को अपवाद बनाने के मूड में नहीं है. उनके लिए सभी राष्ट्रीय खेल महासंघ समान है. सभी राष्ट्रीय खेल महासंघ एक सरकारी डोपिंग रोधी एजेंसी के अंतर्गत हैं और वह नाडा है.

नाडा के अंतर्गत आने से बीसीसीआई के इनकार के बाद से सरकार और बीसीसीआई के बीच पिछले कुछ समय से टकराव की स्थिति चल रही थी। अब तक बीसीसीआई नाडा के दायरे में आने से इनकार करता आया है. उसका दावा रहा है कि वह स्वायत्त ईकाई है, कोई राष्ट्रीय खेल महासंघ नहीं और सरकार से फंडिंग नहीं लेता. 

डोपिंग परीक्षण में नाकाम रहने के कारण बीसीसीआई ने युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ को नवंबर तक प्रतिबंधित करने से कुछ दिन पहले ही खेल मंत्रालय ने बीसीसीआई को पत्र लिखकर उसके डोपिंग रोधी ढांचे की आलोचना की थी. खेल मंत्रालय लगातार कहता आया है कि उसे नाडा के अंतर्गत आना होगा. हाल ही में उसने दक्षिण अफ्रीका ए और महिला टीमों के दौरों को मंजूरी रोक दी थी जिसके बाद अटकलें लगाई जा रही थी कि बीसीसीआई पर नाडा के दायरे में आने के लिए दबाव बनाने के मकसद से ऐसा किया गया.



loading...