ताज़ा खबर

जम्मू-कश्मीर के बारामूला में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, पांचवां आतंकी भी ढेर

जम्मू-कश्मीर: लद्दाख में बर्फीले तूफान की चपेट में आए 10 पर्यटक फंसे, पुलिस और सेना का रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

जम्मू-कश्मीर: अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी गोलाबारी में BSF का असिस्टेंट कमांडेंट शहीद

सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा- कश्मीर में आतंकियों के जनाजे पर रोक लगाने का फैसला सही साबित हुआ

2010 IAS टॉपर शाह फैसल ने दिया इस्तीफा, इस पार्टी के टिकट पर लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सेना की पेट्रोलिंग टीम पर हमला, एनकाउंटर में 1 आतंकी ढेर

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने फिर दिया विवादित बयान, कहा- बुरहान वानी की मौत पर हुई हिंसा में मारे गए सभी लोग शहीद थे

2018-08-09_JKBaramullaEncounter.JPG

उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के रफियाबाद इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में अब तक 5 आतंकियों को ढेर कर दिया गया है. 5वें आतंकी के मारे जाने की पुष्टि गुरुवार सुबह अधिकारियों द्वारा की गई है. सर्च ऑपरेशन अब भी जारी है. आपको बता दें कि, बुधवार तड़के रफियाबाद इलाके में नियंत्रण रेखा से सटे जंगल क्षेत्र में सेना की 32 राष्ट्रिय राइफल्स (आरआर) और 9 पैरा कमांडोस द्वारा इलाके में आतंकियों के बड़े ग्रुप के मिले इनपुट के बाद तलाशी अभियान छेड़ा गया. इस तलाशी अभियान के दौरान आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग की जिसका मुंहतोड़ जवाब जवानों द्वारा भी दिया गया. सेना के एक अधिकारी ने बताया कि विजय टॉप इलाके में करीब 5 आतंकियों का एक ग्रुप होने की जानकारी मिली थी, जो इस इलाके में घुसपैठ कर दाखिल हुआ है.

वहीं जंगल क्षेत्र होने के साथ साथ खराब मौसम के कारण जवानों को मुठभेड़ के दौरान सुबह से दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा लेकिन उसके बावजूद भी जवानों को शाम तक 4 आतंकियों को मार गिराने में सफलता हाथ लगी जिसकी सेना द्वारा पुष्टि की गयी. इस बीच ऑपरेशन के दौरान आतंकियों की सही लोकेशन को ट्रैक करने के लिए सेना द्वारा ऑपरेशन में ड्रोन और हेलीकॉप्टर भी इस्तेमाल में लाए गए.

आपको बता दें कि इस बीच सेना की 9 पैरा के एक कमांडो के गंभीर रूप से घायल होने की खबर भी है लेकिन इसकी कोई भी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है. सूत्रों के अनुसार घायल जवान को नजदीक के अस्पताल इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. गुरेज में लगातार दूसरे दिन भी सेना का आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन जारी. ऑपरेशन को सेना की 36 आरआर और 4 पैरा के जवान अंजाम दे रहे हैं क्योंकि उन्हें अंदेशा है कि इलाके में अभी भी कुछ आतंकी मौजूद हैं. इस बीच लगातार खराब मौसम एक बड़ी चुनौती बना हुआ है. आपको बता दें कि इस ऑपरेशन के दौरान 4 आतंकियों को मार गिराने में सफलता हाथ लगी थी जबकि सेना के एक मेजर सहित चार जवान शहीद हुए थे.



loading...