ताज़ा खबर

सपा सांसद आजम खान का विवादित बयान, कहा- मदरसे से नहीं निकलते हैं प्रज्ञा और गोडसे

यूपी में बिगड़ी कानून-व्यवस्था को लेकर अखिलेश यादव ने राज्यपाल राम नाईक से की मुलाकात, बीजेपी सरकार पर बोला हमला

लोकसभा चुनाव में हार पर कांग्रेस का मंथन, ज्योतिरादित्य सिंधिया की मीटिंग में शामिल नहीं हुए ये कांग्रेसी नेता

उत्तर प्रदेश के मेरठ में कीटनाशक फैक्टी में लगी भीषण आग, मौके पर दमकल की 9 गाड़ियां मौजूद

आतंकी हमले को लेकर हाई अलर्ट पर राम नगरी अयोध्या, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

अनंतनाग आतंकी हमले में शहीद हुए यूपी के दो लाल, CM योगी ने परिजनों को 25 लाख रुपए और नौकरी देने का किया वादा

अतीक अहमद पर कसा CBI का शिकंजा, रियल एस्टेट डीलर अपहरण मामले में दर्ज हुआ केस

2019-06-12_AzamKhan.jpg

समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान ने मदरसों की शिक्षा प्रणाली में कम्प्यूटर और गणित को शामिल कर उन्हें मुख्यधारा में लाने के निर्णय पर विवादास्पद बयान दिया. उन्होंने मंगलवार को कहा कि मदरसों की प्रकृति नाथूराम गोडसे या प्रज्ञा सिंह ठाकुर जैसी शख्सियत पैदा करने वाली नहीं है. अगर सरकार मदरसों की मदद करना चाहती है तो उनकी बिल्डिंग बनवाए और सुविधाएं बढ़ाई जाएं. केंद्र सरकार अगले 5 साल में अल्पसंख्यक समुदाय के 5 करोड़ छात्रों को छात्रवृत्ति देने की योजना जुलाई से शुरू करेगी. इसके अलावा मदरसों में कम्प्यूटर, गणित और विज्ञान जैसे विषय भी पढ़ाए जाएंगे.

रामपुर के सांसद आजम ने कहा कि मदरसों में मजहबी तालीम दी जाती है. इसके साथ बच्चों को अंग्रेजी, हिंदी और गणित पहले ही पढ़ाया जा रहा है. अगर सरकार मदद करना चाहती है तो मदरसों की बिल्डिंग बनाए, फर्नीचर और मिड डे मील दें।. मदरसों में सुविधाएं बढ़ाई जाएं.

केंद्र ने अगले 5 साल में अल्पसंख्यक समुदाय के 5 करोड़ छात्रों को छात्रवृत्ति देने का ऐलान किया है। इनमें 50% लड़कियां शामिल होंगी। अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार को बताया कि मदरसों के छात्रों को भी कम्प्यूटर और विज्ञान जैसे विषयों की शिक्षा सुनिश्चित की जाए, इसके लिए जुलाई से मदरसा प्रोग्राम शुरू किया जाएगा। केंद्र और राज्यों की प्रशासनिक सेवाओं, बैंक सेवाओं, एसएसी, रेलवे और दूसरी प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए मुफ्त कोचिंग की सुविधा दी जाएगी. यह सुविधा मुस्लिम, क्रिश्चियन, सिख, जैन, बौद्ध और पारसी समुदायों के आर्थिक रूप से पिछड़े छात्रों को मिलेगी.

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर मालेगांव ब्लास्ट केस में आरोपी हैं, उन्होंने भोपाल से कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफवी लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की है. प्रचार अभियान में प्रज्ञा ने गांधीजी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को राष्ट्रभक्त बताया था. इसके लिए उन्हें काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था. {प्रधानमंत्री|पीएम मोदी  नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि वे प्रज्ञा ठाकुर को मन से कभी माफ नहीं कर पाएंगे.



loading...