अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की तारीख 1 दिन और कम की, 17 अक्टूबर तक पूरी करनी होगी जिरह

अंतिम संस्कार के लिए राजी हुआ कमलेश तिवारी का परिवार, सीएम योगी कल करेंगे मुलाकात

अयोध्या मामला: हिंदू महासभा और मुस्लिम पक्षकारों ने सुप्रीम कोर्ट में सील बंद लिफाफे में पेश किया मोल्डिंग ऑफ रिलीफ

कमलेश तिवारी हत्याकांड में पुलिस ने सूरत से 7 संदिग्धों को हिरासत में लिया

यूपी: आगरा-अलीगढ़ मार्ग पर बड़ा सड़क हादसा, कार-ट्रक की टक्कर में 4 लोगों की मौत, गर्भवती महिला घायल

यूपी: हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की गला रेतकर हत्या, इलाके में भारी पुलिसबल तैनात

वाराणसी: BHU में गृहमंत्री अमित शाह बोले- फिर से लिखा जाना चाहिए देश का इतिहास, कब तक अंग्रेजों को कोसते रहेंगे

2019-10-04_AyodhyaCaseSC.jpg

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या केस की सुनवाई की डेडलाइन एक दिन घटा दी है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अयोध्या केस में सुनवाई 17 अक्टूबर तक चलेगी. कोर्ट ने पक्षकारों से कहा है कि वो 17 अक्टूबर तक अपनी जिरह पूरी करें. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने जिरह पूरी करने के लिए 18 अक्टूबर तक की डेडलाइन तय की थी. अगले हफ्ते दशहरे के अवकाश के चलते कोर्ट बंद रहेगा. इस लिहाज से अब सिर्फ चार दिन की सुनवाई अयोध्या केस में बची है.

आपको बात दें कि अयोध्या मामले की सुनवाई के 32वें दिन चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा था कि इस मामले में जिरह पूरा करने की समयसीमा को 18 अक्टूबर से एक दिन भी ज़्यादा नहीं बढ़ाया जा सकता है. पक्षकारों को तब तक अपनी जिरह पूरी करनी होगी, लेकिन शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगले हफ्ते दशहरे की छुट्टी के चलते कोर्ट बंद रहेगा. लिहाजा, दोनों पक्ष अपनी जिरह 17 अक्टूबर तक समाप्त कर दें.

गौरतलब है कि CJI 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट के कैलेंडर के मुताबिक, 5 अक्टूबर (शनिवार से) से 13 अक्टूबर तक दशहरे का अवकाश है. वैसे 16 नवंबर और 17 नवंबर को शनिवार और रविवार पड़ेगा. इन दो दिन सामान्यतया सुप्रीम कोर्ट नहीं खुलता. 17 नवंबर की समयसीमा से पहले दशहरा और दीपावली का अवकाश भी पड़ेगा. इस लिहाज से भी संविधान पीठ के पास वक़्त कम है.
 



loading...