ताज़ा खबर

Ayodhya Verdict Live: SC का 5-0 से फैसला, शिया सेंट्रल बोर्ड की याचिका खारिज, ASI की रिपोर्ट को खारिज नहीं किया जा सकता

निर्भया केस: गृह मंत्रालय ने दोषियों की दया याचिका खारिज करने की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से की सिफारिश

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बड़ा बयान, कहा- पॉक्सो एक्ट के तहत रेप के दोषियों के लिए दया याचिका नहीं होनी चाहिए

पीएम मोदी ने कहा- अनुच्छेद 370 हटाने से जम्मू-कश्मीर के लोगों को विकास की नई उम्मीद मिली है

हैदराबाद रेप-मर्डर केस के आरोपियों का एनकाउंटर, निर्भया की मां ने कहा- मैं बहुत खुश हूं, पुलिस ने बेहतरीन काम किया

दिल्ली: सीएम अरविंद केजरीवाल का एक और बड़ा फैसला, DTC और क्लस्टर बसों में लगेंगे CCTV कैमरे

9 दिसंबर को लोकसभा में पेश किया जाएगा नागरिकता संशोधन विधेयक

2019-11-09_AyodhyaCase.jpg

अयोध्‍या केस में सुप्रीम कोर्ट के सभी जजों ने 5-0 यानी सर्वसम्मति से फैसला लिखा है. कोर्ट ने सबसे पहले शिया वक्‍फ बोर्ड की याचिका खारिज कर दी है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि अगले 30 मिनट में पूरा फैसला सुनाया जाएगा. चीफ जस्टिस ने कहा कि मीर बाकी ने बाबर के वक्‍त बाबरी मस्जिद बनवाई थी. 1949 में दो मूर्तियां रखी गईं. ढांचे के नीचे मंदिर के सबूत मिले. खुदाई के सबूतों को अनदेखा नहीं कर सकते. बाबरी मस्जिद को हिंदुओं से जुड़े ढांचे पर बनाया गया. बाबरी मस्जिद खाली जमीन पर नहीं बनी थी. पुरातत्‍व विभाग (ASI) की रिपोर्ट से साबित होता है कि मस्जिद खाली जमीन पर नहीं बनाई गई थी. ASI की रिपोर्ट को खारिज नहीं किया जा सकता.

इस तरह अयोध्‍या केस में फैसला आना शुरू हो गया है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट में जब सुनवाई शुरू हुई तो फैसले पर सभी जजों ने हस्‍ताक्षर किए. चीफ जस्टिस ने सभी से शांति बनाए रखने की अपील की. अयोध्‍या केस देश का सबसे पुराना मामला है और इस मामले में 40 दिनों तक नियमित सुनवाई हुई थी. यह सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में अब तक की दूसरी सबसे लंबी चली सुनवाई थी. सबसे लंबी सुनवाई का रिकॉर्ड 1973 के केशवानंद भारती केस का है, जिसमें 68 दिनों तक सुनवाई चली थी.



loading...