अटल बिहारी वाजपयी खाने के बड़े शौकीन थे, लड्डू, जलेबी और कचौड़ी खाने के लिए ग्वालियर जाते थे

2018-08-17_AtalJiFood.jpg

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का कल शाम 93 साल की उम्र में एम्स में निधन हो गया है. देश के लिए यह काफी दुख की घड़ी है. अटल की मीठी बोली और निराले व्यक्तित्व के तो विरोधी भी दीवाने थे. मगर क्या आप जानते है कि वाजपेयी बहुत लजीज़ खाने के भी शौकीन थे. उन्हें  लड्डू और गजक बहुत पसंद था. कानपुर में रहने वाले उनके रिश्ते.दार जब भी मिलने जाते थे वे ‘ठग्गू के लड्डू’ जरूर लेकर जाते थे.

दरअसल अटल बिहारी वाजपेयी के बड़े भाई प्रेम बिहारी वाजपेयी की पौत्री नंदिता की शादी पांडुनगर के रहने वाले राजेंद्र मिश्रा बब्बूक के छोटे बेटे सुमित मित्रा से हुई है. उन्होंदने बताया कि हम लोग जब दिल्ली  जाते थे तो उनके लिए ‘ठग्गू के लड्डू’  जरूर ले जाते थे. वह चाव से खाते थे. इसके अलावा उन्हेंए गजक भी बहुत पंसद थे. सर्दी में तो गजक न ले जाएं तो उलाहना देने लगते थे. इसके अलावा उन्हेंर बूंदी वाला लड्डू भी बेहद पसंद था.

अटल बिहारी वाजपेयी खाने के बड़े शौकीन थे और खाने को लेकर एक किस्सा बेहद मशहूर है. खाने को लेकर उनकी दीवानगी का आलम यह था कि एक बार आधिकारिक भोज के दौरान उन्हें गुलाब जामुन से दूर रखने के लिए उनके सहयोगियों को उनका ध्यान वहां से हटाने के लिये बॉलीवुड स्टार माधुरी दीक्षित को वहां तैनात करना पड़ा. वाजपेयी अब हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उन्हें जानने वाले आज एक राजनेता के तौर पर तो उन्हें याद कर ही रहे हैं, खानपान को लेकर उनका शौक भी उनके करीबी सहयोगियों और पत्रकारों के बीच चर्चा का विषय है, खास तौर पर मिठाइयों और सी-फूड को लेकर जिसमें झींगा उन्हें खास तौर पर पसंद था.

नौकरशाह ने कहा, ऐसे में यह कोलकाता में पुचका था, हैदराबाद में बिरयानी और हलीम और लखनऊ में गलावटी कबाब होते थे. वह खास तौर पर चाट मसाले के साथ पकौड़े और मसाला चाय पसंद करते थे. उनकी करीबी लोग याद करते हैं कि कितने शौक से वह हर खाना खाते थे. एक अन्य वरिष्ठ पत्रकार ने बताया कि कई मौकों पर उन्हें और उनके साथी पत्रकारों को खुद वाजपेयी जी के हाथों से पकाए पकवान खाने का मौका मिला. उन्होंने याद करते हुए कहा, वह कम से कम एक व्यंजन हमारे लिए पकाते थे. वह चाहे मिठाई हो या कुछ मांसाहारी. एक करीबी सहयोगी ने कहा कि मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान वाजपेयी नमकीन मूंगफली खाते रहते थे और चाहते थे कि जब भी उनकी प्लेट खाली हो, उसे फौरन भर दिया जाए. एक करीबी सहयोगी ने कहा कि लालजी टंडन उनके लिए लखनऊ के चौक इलाके से कबाब लेकर आते थे, केंद्रीय मंत्री विजय गोयल उनके लिए पुरानी दिल्ली से बेड़मी आलू और चाट लेकर आते थे. उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू आंध्र प्रदेश से उनके लिए झींगा लाते थे.



loading...