AIIMS में 18 डॉक्टरों की टीम कर रही है अटल बिहारी वाजपेयी का इलाज, आने वाला है स्वास्थ्य बुलेटिन

राहुल गांधी ने 2019 चुनाव से पहले पार्टी में किये बड़े बदलाव, अहमद पटेल को बनाया कोषाध्यक्ष

सरकार ने वॉट्सऐप से कहा- फेक न्यूज और अश्लील मैसेज रोकने के उपाय तलाशें, नहीं तो जुर्माना लगेगा

तेज बहादुर के विडियो से जवानों में हो सकता था विद्रोह, इसलिए नौकरी से डिसमिस किया: सरकार

वाजपेयी जी की याद में प्रार्थना सभा में लाल कृष्ण आडवाणी ने कहा- कभी नहीं सोचा था कि ऐसी सभा को संबोधित करना पड़ेगा जिसमें अटल जी अनुपस्थित रहेंगे

कांग्रेस नेता शशि थरूर को कोर्ट ने जिनेवा जाने की दी मंजूरी, सुनंदा पुष्कर मामले में हैं जमानत पर

PNB Scam: लंदन में छुपा बैठा है नीरव मोदी, सीबीआई ने दी प्रत्यर्पण के लिए अर्जी

2018-06-12_atal.jpg

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को कल सोमवार को एम्स में भर्ती कराया गया था. उन्हें सांस लेने में दिक्कत है. वहीं, यूरिन पास होने में भी दिक्कत हो रही है. एम्स के 18 डॉक्टरों की टीम वाजपेयी का इलाज कर रही है. थोड़ी देर में मेडिकल बुलेटिन जारी होने वाला है जिसके बाद पता चलेगा कि उनके स्वास्थ्य में कितना सुधार है. 

एम्स द्वारा देर रात जारी किए गए बयान में कहा गया कि पूर्व प्रधानमंत्री को यूरिन का संक्रमण है. जिसके लिए उन्हें उचित उपचार दिया जा रहा है और 18 डॉक्टरों की एक टीम लगातार उनकी सेहत पर नजर बनाए हुए है. थोड़ी देर में उनका मेडिकल बुलेटिन जारी किया जाएगा. एक अंग्रेजी अखबार ने एम्स के सूत्रों के हवाले से बताया है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता की हालत गंभीर है. उनकी एक किडनी और फेफड़े क्षमता से कम काम कर रहे हैं. सूत्रों का कहना है कि मेडिकल जांच के दौरान पूर्व पीएम वाजपेयी में कमजोरी ज्यादा देखने को मिली है.

हालांकि एम्स की मीडिया और प्रोटोकॉल डिविजन की अध्यक्ष आरती विज ने कहा, पूर्व प्रधानमंत्री को रूटीन चेकअप के लिए भर्ती कराया गया है. उनकी हालत स्थिर है. 93 साल के वाजपेयी एम्स निदेशक रणदीप गुलेरिया की देखरेख में हैं, जो पिछले 15 सालों से उनका इलाज कर रहे हैं. अटल बिहारी जोकि डायबिटिज से पीड़ित हैं उनकी केवल एक किडनी काम करती है. उन्हें साल 2009 में स्ट्रोक आया था जिसने उनकी ज्ञान संबंधी क्षमताओं को प्रभावित किया था. इसके बाद उन्हें डिमेनटिया नामक बिमारी हो गई.

कल रात को अटल बिहारी वाजपेयी के स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एम्स पहुंचे थे. पीएम मोदी ने डॉक्टरों से बातचीत कर वाजपेयी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली. मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री के परिवार के सदस्यों से भी बातचीत की. प्रधानमंत्री मोदी करीब 50 मिनट तक अस्पताल में रुके. अटल बिहारी वाजपेयी से मिलने भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, स्वास्थ्य मंत्री जयप्रकाश नड्डा, विजय गोयल और पर्यावरण मंत्री हर्षवर्द्धन एम्स पहुंचे.



loading...