असम में सरकार बनने के बाद पहला कैबिनेट विस्तार, शामिल हुए ये 7 नए चेहरे

असम 2008 बम विस्फोट मामले में एनडीएफबी प्रमुख रंजन दैमारी सहित 10 को उम्रकैद की सजा, 88 लोगों की गई थी जान

असम 2008 बम विस्फोट मामले में एनडीएफबी प्रमुख रंजन दैमारी सहित 15 दोषी करार, बुधवार को सजा का ऐलान

असम में बोले पीएम मोदी, आपको विश्वास दिलाता हूं एनआरसी से कोई भारतीय नहीं छूटेगा

एआईयूडीएफ प्रमुख बदरुद्दीन अजमल को पत्रकार के सवाल पर आया गुस्सा, सिर फोड़ने की दी धमकी

असम आज नागरिकता संशोधन बिल को लेकर बंद, प्रदर्शकारियों ने रेलवे पटरियों को किया बाधित, सुरक्षा के कड़े इंतजाम,

असम: 24 साल पुराने फर्जी एनकाउंटर मामले में मेजर जनरल सहित 7 सैन्यकर्मियों को उम्रकैद

2018-04-26_sarba54.jpg

आज असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए उसमें 7 लोगों को शामिल किया. NDA सरकार के 2016 में सत्ता में आने के बाद सोनोवाल सरकार के मंत्रिमंडल में यह पहला विस्तार है. शामिल किए गए 7 मंत्रियों में से 4 कैबिनेट मंत्री हैं वहीं 3 राज्य मंत्री हैं.

जानकारी के मुताबिक , राजभवन में आयोजित एक समारोह में राज्यपाल जगदीश मुखी ने भाजपा के सिद्धार्थ भट्टाचार्य, भाबेश कलिता, सम रोंघांग, तपन गोगोई और पियूष हजारिका, असम गण परिषद् (AGP) के फनी भूषण चौधरी और बोडोलैंड पीपल्स फ्रंट (BPF) के चंदन ब्रह्मा को पद की शपथ दिलाई.

इन सातों में से एजीपी और बीपीएफ के विधायक राज्य की पिछली सरकार के कार्यकाल के दौरान मंत्री रह चुके हैं. सर्बानंद सोनोवाल के मंत्रिमंडल ने 11 मंत्रियों के साथ 24 मई 2016 को कार्यभार संभाला था. इनमें मुख्यमंत्री , कैबिनेट के 8 मंत्रियों और स्वतंत्र प्रभार वाले 2 राज्य मंत्रियों ने शपथ ली थी.

असम मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री समेत 19 मंत्री हो सकते हैं. 7 नए मंत्रियों को शामिल किए जाने के बाद भी एक पद रिक्त रहता है.
 



loading...