सीएम अरविन्द केजरीवाल का ऐलान, पंजाब में सभी लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी AAP

2018-10-12_ArvindKejriwal.jpg

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि उनकी पार्टी पंजाब में लोकसभा की सभी 13 सीटों पर चुनाव लड़ेगी और किसी के साथ गठबंधन नहीं करेगी. केजरीवाल ने कहा, हम राज्य की सभी लोकसभा सीटों पर लड़ेंगे, हम किसी के साथ कोई गठबंधन नहीं करेंगे. वह एक पार्टी विधायक की शादी में भाग लेने के लिए बठिंडा गए थे. उन्होंने राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस पर हमला बोला और उसके सभी मोर्चों पर असफल रहने का आरोप लगाया.

केजरीवाल ने आरोप लगाया, अमरिंदर सिंह ने प्रत्येक परिवार में एक नौकरी देने का वादा किया था. उन्होंने कहा था कि अगर कोई बेरोजगार है तो उसे बेरोजगारी भत्ता मिलेगा. उन्होंने सामाजिक सुरक्षा पेंशन बढ़ाने, किसानों का कर्ज माफ करने की बात की थी, युवकों से स्मार्टफोन का वादा किया. केवल बड़े बड़े वादे किए गए और कुछ भी पूरा नहीं हुआ है. पंजाब के लोग उनसे तंग आ गए हैं.

केजरीवाल ने कहा कि अमरिंदर सिंह ने राज्य से मादक पदार्थों की समस्या को खत्म करने का वादा किया था, लेकिन यह अब भी बनी हुई है. उन्होंने कांग्रेस सरकार पर न्यायमूर्ति रंजीत सिंह आयोग की जांच रिपोर्ट पर कार्रवाई करने में नाकाम रहने का भी आरोप लगाया. इससे पहले दिन में केजरीवाल ने बठिंडा से विधायक रूपिंदर कौर रूबी की शादी में भाग लिया. उनके साथ मनीष सिसोदिया भी थे.
आप ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव और अगले साल लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चंदा जुटाने के लिए इस बार बड़ी राशि में दान पर निर्भरता से हटकर हर घर से मामूली राशि में चंदा एकत्र करने का फैसला किया है. 

आप संयोजक अरविंद केजरीवाल इस अभियान की शुरुआत 14 अक्तूबर को दिल्ली में कार्यकर्ता सम्मेलन के माध्यम से करेंगे. पार्टी के एक नेता ने बताया कि इसमें आप के विभिन्न राज्यों से सभी सांसद, विधायक और पार्षद के अलावा पार्टी पदाधिकारी भी शामिल होंगे. इसमें केजरीवाल कार्यकर्ताओं को बताएंगे कि आप की इस मुहिम का मकसद जनता के बीच जाकर यह बताना है कि जो पार्टी चुनावी खर्च के लिए जिससे चंदा लेती है, बाद में उन्हीं लोगों के काम करती है.

इसके तहत आप के निर्वाचित प्रतिनिधि अपने क्षेत्र में घर घर जाकर लोगों को बताएंगे कि भाजपा और कांग्रेस सहित अन्य दल उद्योगपतियों से भारी मात्रा में चंदा लेते हैं इसलिये सत्ता में आने पर इन दलों की सरकारें उद्योगपतियों के हित के काम करती है. 

इसके विपरीत आप जनता से चंदा लेकर जनता के काम करती है. इसके लिये आप कार्यकर्ता घर घर जाकर दिल्ली सरकार द्वारा आम आदमी के लिये स्वास्थ्य और शिक्षा सहित अन्य क्षेत्रों में किये गये कामों को बतायेंगे. इसके एवज में पार्टी कार्यकर्ता प्रत्येक घर से छोटी छोटी दान राशि के रूप में चंदा एकत्र करेंगे. लेकिन एक बार सोचने की है कि इससे पहले तो आम आदमी पार्टी ने कभी इस तरह से लोगों से चंदा नहीं लिया और विदेशों से पैसा मांगा.



loading...