आम आदमी को बड़ी राहत, मई में थोक महंगाई दर 22 महीने के निचले स्तर 2.45 फीसदी पर पहुंची

2019-06-14_InflationRate.jpg

महंगाई के मोर्चे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के लिए एक बड़ी खबर आ रही है. मई के दौरान थोक महंगाई दर 22 महीने के निचले स्तर पर पहुंच गई है. मई के दौरान थोक महंगाई दर 2.45 फीसदी दर्ज की गई है. मई में थोक महंगाई दर 3.07 फीसदी से घटकर 2.45 फीसदी पर आ गई है. हालांकि खाद्य थोक महंगाई दर 4.95 फीसदी से बढ़कर 5.1 फीसदी हो गई है.

मई में खुदरा महंगाई दर 3.05% रही, जो सात महीने का उच्च स्तर है. भारत के औद्योगिक उत्पादन में इस {साल|वर्ष| अप्रैल में 3.4 फीसदी की मासिक वृद्धि दर्ज की गई. सरकार द्वारा बुधवार को जारी आंकड़ों के अनुसार मार्च 2019 में फैक्टरी उत्पादन वृद्धि दर 0.35 फीसदी थी. हालांकि खुदरा महंगाई दर केंद्रीय बैंक के लक्ष्य के दायरे में बरकरार है जिससे RBI के पास नीतिगत ब्याज दर में और कटौती करने की गुंजाइश बरकार है.

आपको बता दें कि केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (CSO) ने बुधवार को ये आंकड़े जारी किए थे. सब्जियों, मांस और मछली की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) पर आधारित रिटेल महंगाई दर में बढ़ोतरी देखने को मिली थी.



loading...