मंदिरों में एक जनवरी को ना मनाएं उत्सव, ये हिंदू परंपरा नहीं : आंध्र प्रदेश सरकार

ओडिशा-आंध्र प्रदेश में चक्रवाती तूफान 'तितली' ने मचाई तबाही, 8 लोगों की मौत

सीएम चंद्रबाबू नायडू ने जनता को दी बड़ी राहत, आंध्र प्रदेश में 2 रुपए कम हुए पेट्रोल-डीजल के दाम

2007 हैदराबाद ब्लास्ट: कोर्ट ने 2 को दोषी ठहराया, 2 को किया बरी, सजा पर फैसला सोमवार को

जूनियर NTR के पिता और पूर्व मुख्यमंत्री एनटी रामाराव के बेटे नंदामुरी हरिकृष्णा की सड़क हादसे में मौत

आंध्रप्रदेश के चित्तूर में पत्नी से झगड़े के चलते गुस्साए पति ने 3 बेटों को नदी में फेंका

आंध्र प्रदेश में एंबुलेंस न मिलने से 8 महीने की गर्भवती महिला को लेकर 12 किमी पैदल चला पति, रास्ते में हुई डिलिवरी के बाद बच्चे की मौत

2017-12-23_ap5.jpg

आंध्र प्रदेश सरकार में मंदिरों की देखरेख करने वाले विभाग ने मंदिरों के प्रशासन को नोटिस जारी कर एक जनवरी को मंदिरों में नए वर्ष के उत्सव से दूर रहने को कहा गया है. 

मंदिर प्रबंधनों को निर्देश दिया गया है कि नए वर्ष पर फूलों की सजावट और स्वागत बैनर पर पैसे खर्च नहीं किए जाएं.  

जानकारी के मुताबिक , आंध्र प्रदेश सरकार के हिंदू धर्म परीरक्षण ट्रस्ट ने गुरुवार को निर्देश जारी किया. ट्रस्ट के सचिव चिलकपती विजया राघवचार्युलू ने कहा कि विभागीय कमिश्नर के संज्ञान में यह बात आई है कि मंदिरों के प्रंबधन नए साल पर फूलों की सजावट और स्वागत बैनर पर लाखों रूपये खर्च कर देते हैं. भक्तों के दान के पैसे से नए साल की आनंद पर खर्च करना उचित नहीं है और ये हिंदू परंपरा के अनुसार नहीं है. 

साथ ही उन्होंने कहा कि इसलिए, यह निर्देश है कि सुझावों का सावधानी से पालन किया जाए. राघवचार्युलू ने कहा कि चैत्र महीने में मनाया जाने वाले तेलुगू नव वर्ष उगाडी हिंदू परंपरा के अनुसार है.



loading...