अमृतसर रेल हादसा: लोगों ने खोले पटरी के कुंडे, 40 घंटे बाद ट्रेन सेवाएं बहाल

2018-10-22_TrainAccident.jpg

अमृतसर के जौड़ा फाटक के पास रेलवे की खूनी पटरी पर एक बार फिर से खूनी खेल खेलने की योजना तैयार की गई थी. इसका खुलासा तब हुआ जब पटरी के एक दर्जन कुंडे खुले मिले. इसकी जानकारी आरपीएफ के अधिकारियों को दे दी गई. 

मालूम होता है कि ट्रैक पर एक बार फिर से खूनी खेल की योजना थी. शरारती तत्वों ने ट्रैक के बीच से कई कुंडे निकाल दिए थे. अगर कुंडों पर नजर नहीं जाती और पटरी पर ट्रेन चली जाती तो कोई बड़ा हादसा हो सकता था. सूचना के बाद आरपीएफ की टीम ने पटरी की जांच की तो करीब 200 मीटर के दायरे में करीब एक दर्जन कुंडे निकाल दिए गए थे. इससे पटरी ढीली हो गई थी.

सूत्रों के अनुसार कुंडों को हाथ से निकालना आसान नहीं है. इसके लिए हथौड़े का इस्तेमाल किया गया है. आरपीएफ और पुलिस की तरफ से कंट्रोल रूम को इसकी जानकारी दे दी गई है. 40 घंटे बाद रेल सेवाएं बहाल. 

रेलवे के प्रवक्ता ने बताया कि रेलवे को स्थानीय अधिकारियों से दोपहर 12:30 बजे ट्रेन सेवाएं बहाल करने की मंजूरी मिली. उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने बताया, पहले मालगाड़ी को दोपहर दो बजकर 16 मिनट पर मनावला से अमृतसर रवाना किया गया.



loading...