अमृतसर ट्रेन हादसा: कोर्ट ने खारिज की याचिका, कहा- जब लोग खुद ट्रैक पर खड़े थे तो नवजोत कौर जिम्मेदार कैसे

पंजाब के गुरदासपुर में पटाखा फैक्ट्री में धमाका, 18 लोगों की मौत, कई के मलबे में दबे होने की आशंका

पंजाब: हाईकोर्ट ने धार्मिक स्थलों पर बिना इजाजत के लाउडस्पीकर बजाने पर लगाई रोक

पंजाब: सीएम अमरिंदर सिंह ने स्वीकार किया नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा, अंतिम फैसले के लिए गवर्नर को भेजा

नवजोत सिंह सिद्धू ने सीएम अमरिंदर सिंह को भेजा इस्तीफा, कैप्टन बोले- सोच विचार कर ही करेंगे फैसला

जालंधर-अमृतसर हाईवे पर फ्लाईओवर से नीचे गिरी स्कूल बस, कई बच्चे समेत ड्राइवर भी घायल

पंजाब: लुधियाना की सेंट्रल जेल में कैदियों और पुलिस में फायरिंग, 1 की मौत, DSP की गाड़ी फूंकी

2018-10-29_AmritsarTrainAccident.jpg

बहुचर्चित अमृतसर ट्रेन हादसे को लेकर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में दायर की गई याचिका खारिज हो गई है. वहीं जज ने कुछ सवाल उठाते हुए तीखी टिप्पणियां भी की. दशहरा के दिन पंजाब के अमृतसर में दर्दनाक ट्रेन हादसा हुआ था. हादसे के बाद 59 लोगों की मौत की जिम्मेदारी अभी तय नहीं हुई. इसी को लेकर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई.

याचिका में मांग की गई कि हादसे की सीबीआई जांच कराई जाए और परिजनों को उचित मुआवजा दिलाया जाए. लेकिन यह याचिका खारिज कर दी गई है. साथ ही जज ने सवाल उठाया कि जब लोग खुद ही ट्रैक पर खड़े थे, तो मुख्यातिथि नवजोत कौर या सरकार हादसे की जिम्मेदार कैसे हुईं.

आपको बता दे कि पंजाब सरकार ने हादसे की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं. इसको लेकर पंजाब के गृह विभाग ने अधिसूचना भी जारी कर दी है. जालंधर के डिवीजनल कमिश्नर बलदेव पुरुषार्थ को जांच करने के निर्देश जारी किए. राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह निर्मलजीत सिंह कलसी की ओर से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार बी. पुरुषार्थ को विशेष कार्यकारी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है. जांच के दौरान उन्हें कार्यकारी मजिस्ट्रेट के तौर पर सभी शक्तियां हासिल होंगी.



loading...