ताज़ा खबर

Mission Shakti: अमेरिका ने कहा- भारत के A-SAT परीक्षण की थी जानकारी, लेकिन हमने कोई जासूसी नहीं कराई

पाकिस्तान के क्वेटा शहर की सब्जी मंडी में बम धमाका, 16 की मौत, 30 घायल

Mission Shakti: अमेरिका ने भारत के A-SAT परीक्षण का किया समर्थन, बताया किस वजह से किया टेस्ट

ब्रिटिश पुलिस ने विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को किया गिरफ्तार, वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में होंगे पेश

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा- अगर नरेंद्र मोदी फिर से पीएम बनें तो शांति वार्ता के लिए बेहतर मौका होगा

मालदीव में मोहम्मद नशीद की पार्टी एमडीपी को 87 में से 60 सीटें मिली, अब चीन को ऐसे होगी दिक्कत

निसान मोटर्स के पूर्व चेयरमैन कार्लोस घोसन को जमानत मिलने के बाद फिर किया गया गिरफ्तार, विश्वास हनन का लगा आरोप

2019-03-30_MissionShaktiPentagon.jpg

अमेरिकी रक्षा विभाग (पेंटागन) ने भारत के ‘मिशन शक्ति’ की जासूसी को सिरे से खारिज किया है. यह भी साफ किया है कि अमेरिका को टेस्ट की पहले से जानकारी थी. इस मिशन के तहत भारतीय रक्षा अनुसंधान संस्थान (डीआरडीओ) ने 27 मार्च को एंटी-सैटेलाइट (ए-सैट) मिसाइल का टेस्ट किया था. इस दौरान 300 किलोमीटर दूर पृथ्वी की निचली कक्षा में लाइव सैटेलाइट को मार गिराने में कामयाबी मिली.

मिलिट्री एयर मूवमेंट पर नजर रखने वाले एयरक्राफ्ट स्पॉट्स की रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिकी वायुसेना ने टेस्ट की जासूसी के लिए मध्य हिंद महासागर स्थित अपने डिएगो गार्सिया बेस से एक टोही विमान भारत के पास बंगाल की खाड़ी में भेजा था.

अमेरिकी रक्षा विभाग के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट डेविड डब्ल्यू एस्टबर्न ने कहा, ''अमेरिकी ने किसी भी तरह से भारत की जासूसी नहीं की. बल्कि हम भारत के साथ आपसी सहयोग को बढ़ावा दे रहे हैं. इसी का नतीजा है कि आज कारोबार और मजबूत अर्थव्यवस्था के नतीजे सामने आ रहे हैं.

एयरफोर्स स्पेस कमांड के लेफ्टिनेंट जनरल डेविड डी थोम्पसन के मुताबिक, अमेरिका को पता था कि भारत ए-सैट टेस्ट करने वाला है. उन्होंने अमेरिकी सीनेट आर्म्ड सर्विस सब कमेटी के सदस्य से कहा था कि हमें इसकी जानकारी मिली थी, भारत की ओर से सूचना मिलने पर विमान रोके गए.

अमेरिका ने शुक्रवार को कहा था कि वह भारत के एंटी-सैटेलाइट टेस्ट का अध्ययन कर रहा है. कार्यवाहक अमेरिकी रक्षा मंत्री पैट्रिक शैनहन ने दुनिया के ऐसे किसी भी देश को चेतावनी दी जो एंटी-सैटेलाइट परीक्षण के लिए विचार कर रहा है. शैनहन ने कहा कि अंतरिक्ष में मलबा-कचरा छोड़ना खतरनाक होगा.



loading...