#MeToo: लपेटे में आए आलोक नाथ ने विनता नंदा के खिलाफ दर्ज कराया मानहानि का केस, मुआवजे में मांगा 1 रुपया

2018-10-16_AlokNath.jpg

#Metoo कैंपेन के जरिए आप बीती बताने वाली प्रोड्यूसर विनता नंदा पर आलोक नाथ ने मानहानि का मुकदमा किया है. ये मुकदमा आलोक की पत्नी आशु ने सेशन कोर्ट में अपने और अपने पति की ओर से दायर किया गया है. याचिका में लिखा गया है कि विनता ने एक फेसबुक पोस्ट में बिना आलोक नाथ का नाम लिए उन्हें 19 साल पहले एक बलात्कार का आरोपी बताया गया है. इस अपील में लिखा गया है कि विनता ने आलोक नाथ की छवि बिगाड़ने की कोशिश की है. जिसके बाद से आलोक नाथ दहशत में हैं. क्योंकि बाहर जाने पर उन्हें लोगों का अलग तरह का रवैया और सवाल झेलने पड़ रहे हैं. याचिका में ये भी लिखा है कि विनता लिखित रूप से माफी मांगे या फिर कोर्ट में जाने के लिए तैयार रहे. आपको बता दें, CINTAA द्वारा भेजे नोटिस के जवाब में आलोक नाथ के वकील अशोक सारोगी ने कहा था कि उनके क्लाइंट पर लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं.

विनता नंदा ने बताया था कि एक पार्टी में शामिल हुई और वहां से देर रात दो बजे घर जाने के लिए निकलीं. उनके ड्रिंक में कुछ मिला दिया गया था. नंदा ने कहा, मैं घर जाने के लिए खाली सड़क पर पैदल ही चलने लगी. रास्ते में उस शख्स ने गाड़ी रोकी, जो खुद चला रहा था और कहा कि मैं उनकी गाड़ी में बैठ जाऊं, मुझे घर छोड़ देगा. मैं उस पर विश्वास करके गाड़ी में बैठ गई.

नंदा ने कहा, इसके बाद मुझे बेहोशी सी छाने के चलते हल्का-हल्का याद है. कि मेरे मुंह में और शराब डाली गई और मेरे साथ काफी हिंसा की गई. अगले दिन जब दोपहर को मैं उठी, तो मैं काफी दर्द में थी. मेरे साथ सिर्फ दुष्कर्म ही नहीं किया गया था बल्कि मुझे मेरे घर ले जाकर मेरे साथ नृशंस व्यवहार किया गया था.

उन्होंने कहा, मैं अपने बिस्तर से उठ नहीं सकी. मैंनै अपने कुछ दोस्तों को इस बारे में बताया लेकिन सभी ने मुझे इस घटना को भूलकर आगे बढ़ने की सलाह दी. बाद में उन्हें एक नई सीरीज के लिए लिखने और निर्देशन करने का मौका मिला और फिर उनका सामना आलोक नाथ से हो गया. वह उन्हें फिर परेशान करने लगे जिसके चलते नंदा ने निमार्ताओं से कहा कि वह निर्देशन नहीं कर पाएंगी, हालांकि उन्होंने शो के लिए लिखना जारी रखा.



loading...