दिल्ली में आम आदमी पार्टी से गठबंधन के लिए कांग्रेस ले रही कार्यकर्ताओं से राय, मोबाइल ऐप पर जारी किया ऑडियो क्लिप

केजरीवाल के मुस्लिम वोटर वाले बयान पर शीला दीक्षित का पलटवार, कहा- लोग जिसे चाहें उसे दे सकते हैं वोट

बोफोर्स घोटाला: सीबीआई ने आगे की जांच से जुडी याचिका वापस ली, 6 जुलाई को होगी अगली सुनवाई

दिल्ली-एनसीआर में बारिश के बाद सुहाना हुआ मौसम, कई इलाकों में पानी भरा, लोगों को गर्मी से मिली राहत

दिल्ली में बेटी के साथ हुई छेड़छाड़ का विरोध करने पर पिता और भाई पर चाकुओं से हमला, पिता की मौत

प्रेस कांफ्रेंस में रो पड़ीं आप उम्मीदवार आतिशी, कहा- गौतम गंभीर ने उनके खिलाफ बंटवाए अभद्र भाषा वाले पर्चे

लोकसभा चुनाव: उत्तर पूर्वी दिल्ली से कांग्रेस उम्मीदवार शीला दीक्षित के लिए प्रियंका वाड्रा का रोड शो जारी

2019-03-14_AapCongress.jpg

दिल्ली में लोकसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी (आप) से गठबंधन को लेकर कांग्रेस ने अपने मोबाइल ऐप पर एक ऑडियो क्लिप के जरिए पार्टी की दिल्ली इकाई के कार्यकर्ताओं से इस मुद्दे पर उनकी राय मांगी है. कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक, कांग्रेस ने अपने ’शक्ति ऐप’ पर दिल्ली के एआईसीसी प्रभारी पी सी चाको की एक ऑडियो क्लिप डाली है. इसमें वह ‘आप’ के साथ गठबंधन के मुद्दे पर दिल्ली के कांग्रेस कार्यकर्ताओं की राय मांग रहे हैं.

उन्होंने कहा कि शक्ति ऐप पर इस बाबत शुरू किया गया सर्वे बुधवार को शुरू हुआ और यह गुरुवार को खत्म होगा. कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि ‘आप’ के साथ गठबंधन लगभग तय है. उनका मानना है कि इस महीने के अंत तक इसे अंतिम रूप दे दिया जाएगा. आपको बता दें कि इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित ने गठबंधन से साफ इनकार करते हुए कहा था कि संगठन ने सर्वसम्मति से फैसला किया है कि पार्टी दिल्ली में अकेले चुनाव लड़ेगी.

आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाल ही में कहा था कि दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी (डीपीसीसी) आगामी लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) के साथ गठबंधन के खिलाफ है. हालांकि, उन्होंने ये भी कहा था कि महाराष्ट्र और तमिलनाडु और झारखंड सहित कई अन्य राज्यों में कांग्रेस और आप का गठबंधन तय है. 

पार्टी सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस दिल्ली प्रभारी पीसी चाको और डीपीसीसी के पूर्व अध्यक्ष अजय माकन गठबंधन के पक्ष में थे. लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने इसका विरोध किया. अधिकतर नेताओं की राय के मद्देनजर राहुल गांधी ने आप के साथ गठबंधन नहीं करने पर सहमति जताई. इसके बाद शीला दीक्षित ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने के बाद मंगलवार को घोषणा की थी कि उनकी पार्टी राष्ट्रीय राजधानी में आगामी लोकसभा चुनावों के लिए आप के साथ गठबंधन नहीं करेगी.



loading...