यूपी: साक्षी-अजितेश की शादी को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बताया वैध, पुलिस को सुरक्षा देने का दिया आदेश

गाजियाबाद में सीवर की सफाई करने उतरे 5 लोगों की मौत

अयोध्या मामला: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी, याचिकाकर्ता के वकील ने कहा- मैं श्री राम उपासक हूं और मुझे जन्मस्थान पर उपासना का अधिकार है

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने DJ बजाने पर लगाई रोक, ध्वनि प्रदूषण होने पर थाना इंचार्ज होंगे जिम्मेदार

अयोध्या मामला Live: रामलला के वकील बोले- कोई मंदिर कोई देवता नहीं तो फिर भी लोगों की जन्मभूमि के प्रति आस्था ही काफी है

योगी मंत्रिमंडल का विस्तार, 6 कैबिनेट, 6 स्वतंत्र प्रभार और 11 राज्य मंत्रियों ने ली शपथ

योगी सरकार का कल होगा मंत्रिमंडल विस्तार, जानें किन नए चेहरों को मिल सकता है मौका

2019-07-15_SakshiAjitesh.jpg

बरेली से भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी और उसके पति अजितेश कुमार अपनी सुरक्षा की मांग को लेकर सोमवार सुबह इलाहाबाद हाईकोर्ट पहुंचे, जहां कुछ लोगों ने अजितेश से मारपीट कर दी. साक्षी-अजितेश के मामले की सुनवाई जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा की कोर्ट में हुई. साक्षी-अजितेश मामले में हाईकोर्ट में सुनवाई पूरी होने के साथ ही दोनों के लिए खुशी की खबर आई है. उच्च न्यायालय ने तमाम कागजातों की जांच करने के बाद दोनों की शादी को वैध ठहराया है.

अपनी सुरक्षा की मांग को लेकर अदालत पहुंचे साक्षी और अजितेश की शादी का प्रमाणपत्र कोर्ट ने देखा. इसके साथ ही अदालत ने दोनों की उम्र की जांच के लिए शैक्षिक प्रमाणपत्रों की भी जांच पड़ताल की. सभी कागजातों से संतुष्ट होकर कोर्ट ने शादी को वैध बताया है. कोर्ट ने कहा कि दोनों बालिग हैं इसलिए ये पति-पत्नी की तरह रह सकते हैं.

आपको बता दें कि इससे पहले साक्षी और अजितेश दोनों उत्तर प्रदेश पुलिस की कड़ी सुरक्षा में दिल्ली से प्रयागराज पहुंचे. अजितेश के वकील के अनुसार उच्च न्यायालय के परिसर में कुछ लोगों ने अजितेश के साथ मारपीट की.

अजितेश के वकील ने बताया कि सिर्फ अजितेश की पिटाई हुई थी. यह पता नहीं चला है कि पिटाई करने वाले लोग कौन हैं. लेकिन यह सिद्ध करता है कि दोनों की जान को खतरा है और इसलिए वह सुरक्षा मांग रहे हैं.
अजितेश की पिटाई के मामले में पुलिस अधिकारियों को कोर्ट ने तलब किया और सुरक्षा देने को कहा. इसके साथ ही अजितेश को कोर्ट नंबर 2 में बैठाया गया.

अजितेश की कोर्ट परिसर में पिटाई मामले को लेकर कोर्ट ने नाराजगी जाहिर की और दंपती को सुरक्षा मुहैया करने का आदेश दिया. मामले का स्वतः संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने पुलिस अधिकारियों को तलब किया. अदालत ने कहा कि साक्षी-अजितेश को सुरक्षा दी जाए. सुनवाई पूरी होने के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच दोनों सुरक्षित स्थान पर भेजे गए.



loading...