अखिलेश यादव ने ‘वन नेशन, वन इलेक्शन’ फार्मूले का किया समर्थन, कहा- 2019 के साथ ही सभी चुनाव करा लें

2018-06-06_akhilesh.jpg

उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 'एक देश, एक चुनाव' के मुद्दे पर हम भी आपके साथ हैं. अखिलेश यादव ने बीजेपी को चुनौती दी है कि वो 2019 के साथ ही सारे चुनाव करा ले, समाजवादी पार्टी इसके लिए तैयार है. उन्होंोने कहा कि आप 2019 में ही चुनाव करवा दो हम समाजवादी लोग पूरी तरह से तैयार हैं. इससे अच्छाद मौका कहां मिलेगा देश का सबसे बड़ा प्रदेश है. संदेश तो यहीं से जाएगा.

इससे पहले 'एक देश एक चुनाव' तय करने को बनी सरकारी कमेटी ने अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी है. कमेटी ने यूपी में अगला विधानसभा चुनाव 2022 के बजाय 2024 लोकसभा चुनाव के साथ कराने की राय दी है. इस तरह योगी सरकार का कार्यकाल सात साल का हो जाएगा. कमेटी चाहती है कि दिसंबर 2021 के पहले होने वाले सारे चुनाव 2019 में लोक सभा चुनाव के साथ करा लिया जाए.

अखिलेश यादव ने कहा, कैराना और नूरपुर उपचुनाव अहम थे. इसमें जनता, किसान और गरीबों के फैसले ने समाजिकता, एकता और भाईचारे का संदेश दिया. मौजूदा सरकार में किसान सबसे ज्यादा परेशान है, उन्होंने संगठित होकर भाजपा को जवाब दिया. उन्होंने कहा कि इस हार से कई जगह आत्ममंथन हो रहा होगा और होना भी चाहिए. ये सरकार केवल शिलान्यास करती है.

अखिलेश ने कहा कि मौजूदा यूपी सरकार हमारी योजना पर ही काम कर रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार उन्ही लोगों से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे बनवा रही है जिनसे हमने बनवाया. पूर्व सीएम ने बताया कि हमने 19 महीने में एक्सप्रेस वे बनाया लेकिन इनका तो समय फाइलों में निकल गया. साथ ही उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बनेगी तो मुज़फ्फरनगर, शामली और पश्चिम यूपी के लिए एक्सप्रेसवे बनाया जाएगा.



loading...