एआईयूडीएफ प्रमुख बदरुद्दीन अजमल को पत्रकार के सवाल पर आया गुस्सा, सिर फोड़ने की दी धमकी

भागलपुर के बाद असम के सिल्चर में पीएम मोदी ने कहा- ये चायवाला आपके जीवन को बेहतर बनाने के लिए कोई कमी नहीं छोड़ेगा

असम में राहुल गांधी का वादा, हमारी सरकार बनने पर युवाओं को रोजगार शुरू करने के लिए किसी परमिशन की जरूरत नहीं होगी

असम में पीएम मोदी का कांग्रेस पर वार, कहा- चाय वालों का दर्द सिर्फ एक चायवाला ही समझ सकता है

असम सरकार में बीजेपी के मंत्री ने कहा- अगर मोदी दोबारा पीएम नहीं बने तो संसद और विधानसभा पर हमला कर सकता है पाकिस्तान

असम 2008 बम विस्फोट मामले में एनडीएफबी प्रमुख रंजन दैमारी सहित 10 को उम्रकैद की सजा, 88 लोगों की गई थी जान

असम 2008 बम विस्फोट मामले में एनडीएफबी प्रमुख रंजन दैमारी सहित 15 दोषी करार, बुधवार को सजा का ऐलान

2018-12-27_Badaruddin.jpg

असम के ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) प्रमुख बदरुद्दीन अजमल कॉन्फ्रेंस के दौरान एक पत्रकार के सवाल पर भड़क गए. उन्होंने पत्रकार को सिर फोड़ने तक की धमकी दे डाली. अजमल यहीं नहीं रुके, उन्होंने पत्रकार को कई अपशब्द कहे. पत्रकार ने सिर्फ इतना सा सवाल कर लिया कि वह 2019 के चुनाव में किस पार्टी का समर्थन करेंगे. यह सवाल अजमल को रास नहीं आया और अभद्रता पर उतारू हो गए. अजमल खुद असम की धुबरी लोकसभा सीट से सांसद हैं.

एआईयूडीएफ चीफ बदरुद्दीन अजमल ने हाल ही में असम में हुए पंचायत चुनाव पर प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की थी. इस कार्यक्रम में उन्होंने दक्षिण सलमारा जिले के पंचायत चुनाव के विजेताओं का अभिनंदन किया. पत्रकार ने बाद में लोकसभा सदस्य के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई.

एक स्थानीय टीवी चैनल के पत्रकार ने आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर गठजोड़ की एआईयूडीएफ की योजना के बारे में सवाल किया. लोकसभा सदस्य ने सीधा जवाब देने से बचते हुए कहा, "हम दिल्ली में महागठबंधन (विपक्ष) के साथ हैं."  इसके बाद पत्रकार ने पूछा कि चुनाव के बाद कौन सी पार्टी जीतती है, क्या एआईयूडीएफ इसको देखकर अपना रुख बदलेगी. इस पर अजमल भड़क गए और कहा, "तुम कितना करोड़ रुपये दोगे? (अपशब्द).. यह पत्रकारिता है? तुम जैसे लोग पत्रकारिता को बदनाम कर रहे हैं. यह व्यक्ति पहले से ही हमारे खिलाफ है." इसके बाद अजमल ने और भी अपशब्द कहे. इसके बाद उन्होंने दूसरे पत्रकार का माइक छीनकर सवाल पूछने वाले पत्रकार को मारने की कोशिश की.

अजमल ने कहा, "जाओ कुत्तो, बीजेपी ने तुम्हें कितने पैसों में खरीदा है. भाग जाओ नहीं तो मैं तुम्हारा सिर फोड़ दूंगा. जाओ मेरे खिलाफ केस कर दो.' वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि अजमल किस तरह से अपने सामने रखे टीवी चैनल का माइक उठाकर फेंक देते हैं. अजमल ने पत्रकार को धमकी देते हुए कहा कि यहां आसपास कई लोग हैं, जो मेरे एक इशारे पर तुम्हे खत्म कर देंगे. इस पूरे घटनाक्रम के दौरान अजमल के साथ बैठे उनके अन्य साथी हंसते रहे. असम में एआईयूडीएफ के कुल 13 विधायक हैं. पार्टी के 3 सांसद भी है. 2005 में पार्टी का गठन हुआ था लेकिन पार्टी ने तेजी से असम में अपना प्रभाव बढ़ाया है.



loading...