बंगाल में एक और विधायक छोड़ सकता है ममता का साथ, देर रात मुकुल रॉय से मिले TMC नेता सब्यसाची दत्ता

आयकर विभाग ने दुर्गा पूजा समितियों को भेजा नोटिस, केंद्र सरकार पर भड़कीं ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल: तीन तलाक के खिलाफ आवाज उठाने वाली इशरत जहां को घर खाली करने का आदेश, हनुमान चालीसा के पाठ में हुई थी शामिल

फर्जी डिग्री मामले में ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी को दिल्ली की कोर्ट ने पेश होने का दिया आदेश

कांग्रेस में नहीं थम रहा इस्तीफों का सिलसिला, पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने दिया इस्तीफा, पार्टी ने किया नामंजूर

पश्चिम बंगाल में मुस्लिम छात्रों पर मेहरबान हुईं ममता बनर्जी, स्कूलों में डाइनिंग रूम बनाने का दिया आदेश, बीजेपी ने कहा- साजिश

बंगाल में नहीं थम रही हिंसा, हुगली में ‘जय श्रीराम’ के नारे पर भिड़े बीजेपी-टीएमसी के कार्यकर्ता, 2 घायल

2019-07-08_MukulandSavya.jpg

पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इन दिनों अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को एकजुट रखने की कोशिश में जुटी हुई हैं. लेकिन बावजूद इसके उनके साथी एक-एक कर उनका साथ छोड़ते जा रहे हैं. बिधाननगर नगर निगम के महापौर के रूप में शक्तियां छीने जाने के कुछ ही घंटे बाद रविवार को तृणमूल कांग्रेस के विधायक और वरिष्ठ नेता सब्यसाची दत्ता ने भाजपा नेता मुकुल रॉय से मुलाकात की, जिसके बाद उनके भगवा पार्टी में शामिल होने की अटकलें शुरू हो गई है. कोलकाता के साल्ट लेक में बिधाननगर स्विमिंग पुल एसोसिएशन क्लब में रॉय को दत्ता से मुलाकात करते देखा गया.

इस मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर दत्ता ने कहा, ‘‘मुकुल दा मेरे बड़े भाई की तरह हैं. उन्हें राजनीतिक घटनाक्रमों की जानकारी है, इसलिए वह मेरा कुशल क्षेम और भविष्य की योजना के बारे में पूछने आये थे. यह एक शिष्टाचार मुलाकात थी.’’

महापौर की शक्तियां छीने जाने के बारे में पूछने पर दत्ता ने कहा, ‘‘यहां कानून का शासन है. कुछ निश्चित प्रक्रियाएं हैं. जब तक मैं महापौर हूं, तब तक मैं उनका पालन करता रहूंगा. मुझे इस बात की कोई परवाह नहीं है कि दूसरे क्या कह रहे हैं.’’ दत्ता के भाजपा में शामिल होने के बारे में पूछे जाने पर सीधा उत्तर देने से बचते हुए रॉय ने कहा, ‘‘यह समय बताएगा कि वह भाजपा में शामिल होंगे अथवा नहीं. लेकिन बड़ा भाई होने के नाते मैं निश्चित रूप से उनकी भलाई चाहूंगा.’’



loading...