बिहारवासियों के लिए तेजस्वी ने पढ़ी जेल से लिखी लालू की चिट्ठी, कहा- जमानत के लिए हाईकोर्ट में करेंगे अपील

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड: सुप्रीमकोर्ट ने दिया मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर का मेडिकल टेस्ट कराने का आदेश

पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में JDU के मोहित प्रकाश ने मारी बाजी, ABVP का 3 सीटों पर कब्जा

तेज प्रताप का तलाक की अर्जी लेने से इनकार, कोर्ट ने ऐश्‍वर्या को भेजा नोटिस

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड: सुप्रीमकोर्ट से बिहार सरकार को बड़ा झटका, सीबीआई को सौंपी 17 शेल्टर होम केस की जांच

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड: सुप्रीमकोर्ट ने बिहार सरकार को लगाई फटकार, कहा- 24 घंटे में ठीक करें FIR

तलाक मामला: तेजप्रताप यादव ने ने ट्वीट कर बयां किया दिल का हाल, लिखा- ‘टूटे से फिर ना जुटे, जुटे गांठ परि जाये.'

2018-01-06_tejsvee-yadav-lalu-jail.jpg

लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा पर बेटे तेजस्वी यादव ने कहा कि वह जमानत के लिए हाईकोर्ट में जाएंगे। पटना में पार्टी की बैठक के बाद लालू के बेटे तेजस्वी ने प्रेस कॉन्फेंस कर कहा कि लालू को साजिश के तहत और झूठे मुकदमों में फंसाया गया है लेकिन हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं। यह भी पढ़ें: चारा घोटाला फैसला: लालू यादव को साढ़े तीन साल कैद की सजा, लगा 5 लाख का जुर्माना

पार्टी के भविष्य को लेकर तेजस्वी ने कहा कि 'हमारी पार्टी ने एकजुटता के साथ संघर्ष किया है आगे भी करते रहेंगे। आज कुछ लोग बेहद खुश होंगे लेकिन अभी तो शुरूआत है। लोगों में भाजपा के खिलाफ गुस्सा है। लालू को बीजेपी परेशान कर रही है जिसकी वजह से लोग बेहद गुस्से में हैं।

आगे कहा कि लालू यादव ने पार्टी कार्यर्ताओं को चिठ्ठी लिखी है, लेकिन हम उनका संदेश जन-जन तक पहुंचाएंगे। बता दें कि पटना में लालू के आवास पर आरजेडी की बैठक हुई थी जिसमें राबड़ी देवी भी मौजूद रहीं। 

वहीं उनके दूसरे बेटे तेज प्रताप यादव ने कहा, “हमें विश्वास है कि उन्हें (लालू यादव) जमानत मिलेगी। न्याय प्रणाली पर हमें पूरा भरोसा है। हम नहीं झुकेंगे।”

लालू ने जेल से लिखे पत्र में कहा कि 'इन मनुवादियों ने बड़ा खेल खेला है। मेरे पीछे सीबीआई लगाई, मेरे परिवार को घसीटा, मुझे अरेस्ट करने के लिए आर्मी तक भेजी। यही नहीं मेरे नादान बच्चों पर मुकदमें कर उन्हें प्रताड़ित कर उनका मनोबल तोड़ने का षड़यंत्र रचा जिसमें देश की सभी एजेंसियों के छापे तक शामिल हैं। लेकिन मैं जबसे आंदोलन में कूदा तभी से मुझे पता था कि एक दिन मैं जेल जाऊंगा। 

मैंने हमेशा से जातिवाद और फासीवाद की सबसे बड़ी पैरोकार संस्था आरएसएस के सामने झुकने से लगातार इनकार किया, लेकिन इन मनुवादियों को ये पता होना चाहिए कि करोड़ो बिहारियों के स्नेह की पूंजी जिस लालू के पास है उसे पाताल में भी भेज दो तो वहां से भी तुम्हारे खिलाफ और तुम्हारी दलित-पिछड़ा विरोधी मानसिकता के खिलाफ बिगुल बजाता रहेगा।

, ,


loading...