ब्लू व्हेल गेम ने बनाया एक और को अपना शिकार, असम में एक छात्र ने बिल्डिंग से लगाई छलांग

2017-09-15_the-blue-whale-challenge.jpg

ऑनलाइन ब्लू व्हेल गेम पर जारी बहस के बीच असम के सिलचर में 22 साल के एक छात्र के बिल्डिंग की छत से कूदकर आत्महत्या करने की कोशिश की खबर आई है. छात्र को अस्पताल में भर्ती किया गया है जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है. पुलिस द्वारा मामले की जांच की जा रही है.

ख़बरों के अनुसार छात्र का नाम गौरव सूत्रधार है. वह अपने चाचा के घर रह रहा था. उसने कथित तौर पर ब्लू व्हेल चैलेंज के चक्कर में फंसकर बिल्डिंग के टॉप फ्लोर से छलांग लगाई है. बता दें ब्लू व्हेल गेम के चक्कर में कई बच्चों की मौत भी हो चुकी हैं. यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: छतीसगढ़ में 36 बच्चों पर ब्लू व्हेल गेम के जाल में फंसने का शक, बच्चों के हाथ की कलाई पर मिले कट के निशान

बता दें कि देश के कई राज्यों में इस गेम पर रोक लगाई है. इसके बावजूद यह इंटरनेट पर गुपचुप तरीके से डाउनलोड किया जा रहा है. इस गेम को लेकर केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिकी व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद भी बयान दे चुके है. उन्होंने कहा था, ‘ब्लू व्हेल’ जैसे गेम पूरी तरह अस्वीकार्य हैं, जो युवाओं को आत्महत्या तक कर लेने को उकसाते हैं. प्रसाद ने कहा था कि सरकार ने इस संबंध में सभी प्रौद्योगिकी कंपनियों को ‘द ब्लू व्हेल चैलेंज’ के प्रसार को रोकने के निर्देश दिए हैं.

ज्ञात हो कि ‘द ब्लू व्हेल’ खेलने वालों को 50 दिनों तक खुद को नुकसान पहुंचाने वाली कई चुनौतियां दी जाती हैं और इनके सबूत के तौर पर घटनाओं की वीडियोग्राफी करने को भी कहा जाता है. दुनियाभर में इस गेम के कारण कथित तौर पर 130 से अधिक स्कूली छात्र-छात्राओं की मौत हो गई है.



loading...