पश्चिम बंगाल: निकाय रिजल्ट में चली ममता लहर, 7 में से 4 पर जीत, बीजेपी के अरमानों पर बड़ी चोट

2017-05-17_modi-mamata-west-bengal-civic-polls.jpg

पश्चिम बंगाल में बुधवार को सात म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन इलेक्शन के रिजल्ट घोषित हो गए। पुजाली, मिरिक, रायगंज और डोमकल में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने जीत दर्ज की है। वहीं दार्जलिंग, कुर्सियांग और कलिम्पोंग में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) ने कब्जा किया है। टीएमसी ने इस चुनाव में शानदार प्रदर्शन किया और कांग्रेस और जीजेएम से मिरिक और रायगंज छीन लिया है। बता दें कि 14 मई को दार्जिलिंग, कुर्सियांग, कलिम्पोंग, मिरिक, डोमकल, रायगंज और पुजाली म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन में इलेक्शन हुए थे। 

तीन दशकों में पहली बार टीएमसी ने मिरिक म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन पर कब्जा किया है। यहां की 9 में से 6 सीट पर टीएमसी ने जीती। वहीं, जीजेएम को तीन सीट पर जीत मिली। जीजेएम को दार्जिलिंग की 32 में से 31 सीट पर जीत मिली है। टीएमसी को सिर्फ एक सीट मिली। कुर्सियांग में जीजेएम को 17 सीट मिली है। टीएमसी के खाते में 3 सीट गई।

साउथ परगना के पुजाली म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन में टीएमसी ने अपना कब्जा बरकरार रखा है। 16 मेंबर वाली म्यूनिसिपलिटी में टीएमसी को 12 सीट मिली है। वहीं, बीजेपी 2 और कांग्रेस ने 1 सीट पर जीत दर्ज की है। 27 सीट वाली रायगंज म्युनिसिपलिटी में टीएमसी ने 24 सीट पर जीत दर्ज की है। यहां दो कांग्रेस को और बीजेपी एक सीट मिली है।

7 म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन की 148 सीट में से जीजेएम ने सबसे ज्यादा 69 जीतींं

- बीजेपी अलायंस:72 (जीजेएम 69 + बीजेपी 3)

- टीमसी: 68

- कांग्रेस और लेफ्ट: 4

- जेएपी (जन अधिकार पार्टी): 2

- अन्य: 1

पश्चिम बंगाल निकाय चुनाव नतीजे आने के बाद तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने पीटीआई से बात की. उन्होंने कहा कि बंगाल की जनता ने बीजेपी की साम्प्रदायिक सोच और अवसरवादी कांग्रेस को हरा दिया है. जनता टीएमसी के साथ और यह हमने एकबार फिर साबित किया है.

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष का कहना है कि अगर स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव होते तो उनकी पार्टी कई निकायों में बढ़त हासिल करती. घोष ने तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया कि राज्य सरकार ने निष्पक्ष चुनाव नहीं करवा सकी.



loading...