दिल्ली: मोक्ष म्युज़िक कंपनी और भामाशाह कुटुंब ने आयोजित की एक शाम, “जश्न-ए-आज़ादी” में किया शहीदों-सैनानियों को नमन

दिल्ली: पति ने बच्चों के सामने की पत्नी की हत्या, सिर पर हथौड़ा मार कर ली जान

नहीं रहे दिल्ली हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस राजिंदर सच्चर, 94 साल की उम्र में हुआ निधन

अतुल माहेश्वरी छात्रवृति 2017 में उपराष्ट्रपति ने किया बच्चों को सम्मानित, उपराष्ट्रपति भवन में सम्पन्न हुआ अवार्ड समारोह

दिल्ली वालों के लिए खुशखबरी: बिन बताए बिजली कटी तो हर घंटे में मिलेंगे इतने रुपए

शर्मनाक: कैब में महिला के सामने उबेर ड्राइवर ने की गंदी हरकत, गिरफ्तार

होली में डीयू की छात्राओं पर फेंके गुब्बारे में सीमेन नहीं था, फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी का दावा, भेजे गये सैंपल में ऐसा कुछ नहीं आया

पूरा हिंदुस्तान आज़ादी की 70वीं वर्षगाँठ की तैयारियों में डूबा है. जगह-जगह सांस्कृतिक कार्यक्रमों और उत्सवों का दौर जारी है. स्वतंत्रता दिवस को शहीदों की शहादत का दिन कहेंगे तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी. क्या छोटा और क्या बड़ा, हर कोई इस कीमती आजादी के जश्न में डूबा रहना चाहता है.

मशहूर डॉलीवुड टैलेंट क्लब (DTC) मधु विहार में ‘जश्न-ए-आज़ादी’ कार्यक्रम का आयोजन किया. मोक्ष म्युज़िक कंपनी और भामाशाह कुटुंब के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम का श्रीगणेश गायत्री मन्त्र से किया गया. कार्यक्रम में मंच संचालन किया मंझे हुए मंच संचालक देवेन्द्र गुप्ता ने.


देशभक्ति से भावना से ओत-प्रोत इस कार्यक्रम में सभी ने बहुत ही बेहतरीन गाने गाकर जश्न का आनंद उठाया. इस मौके पर कलाकारों ने आज़ादी के महत्व को समझाते हुए (कर चले हम फ़िदा जान-ओ-तन साथियों, है प्रीत सदा की रीत जहाँ, ये मेरा हिंदुस्तान, ऐ मेरे वतन के लोगों, वंदेमातरम, देश रागीला-रंगीला, ज़िन्दगी मौत न बन जाए, देखो वीर जवानों, छोड़ो कल की बातें) जैसे गाने गाकर सभी लोगों में जोश भर दिया.

जहाँ कुछ लोगों ने देश को लेकर अपनी भावनाएं गाने के ज़रिये जाहिर कीं, तो वहीँ कुछ लोगों ने कविताओं और प्रसंगों के जरिये अपने जज्बातों को ज़ुबान दी. शब्द भले ही अलग हों लेकिन सभी की भावनाएं देश के प्रति समर्पित थीं और एक थीं. सभी एकजुट होकर इस गौरवान्वित क्षण का हिस्सा बने. इसके अलावा बच्चों ने शानदार नृत्य की प्रस्तुति के ज़रिये सभी का मन मोह लिया.

मोक्ष म्युज़िक कंपनी के कर्ता-धर्ता राज महाजन ने शहीदों को याद करते हुए नमन किया. साथ ही कहा, ‘कि कार्यक्रम को आयोजित करने का मकसद नयी सोच को पुराने तजुर्बों से मिलाना है. वहीँ भामाशाह कुटुंब के मनोज गुप्ता ने कहा, 'आज देश आज़ाद है और खूब तरक्की भी कर रहा है. इस तरक्की में हजारों सैनिकों और स्वतंत्रता सैनानियों की शहादत शामिल है. ये आज़ादी बेशकीमती है और इसका ख्याल रखना, सम्मान करना हर नागरिक का फर्ज़ बनता है.'

भामाशाह कुटुंब और मोक्ष म्युज़िक कंपनी ने इस मौके पर बेहतरीन गाने वालों का हौंसला बढ़ाया और उन्हें प्रोत्साहित भी किया. भामाशाह परिवार के संजीव गुप्ता, मनोज गुप्ता और मूलचंद गुप्ता ने प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया और उनके आने वाले सुखद भविष्य की कामना की.

“जश्न-ए-आजादी” कार्यक्रम में विनर नरेन्द्र गुप्ता और रनर-अप एकता गुप्ता को पुरस्कृत किया गया.

देशभक्ति की भावना से भरी इस शाम का अंत हुआ जन-गन-मन के साथ. सभी ने एक सुर में बुलंद आवाज़ में राष्ट्र गानजन-गन-मन गाकर कार्यक्रम को अंजाम तक पहुँचाया. इस तरह से समाजसेवी गिरीश आर्यन गुप्ता के कुशल प्रबंधन और राज महाजन के निर्देशन में इस देशभक्ति और स्वतंत्रता से भरी शाम का समापन हुआ.

जय हिन्द जय भारत...भारत माता की जय.



loading...