छतरपुर: डिंपल राज-लक्की राज ने नए पुराने गानों से बाँधा समा, गानों पर जमकर बरसीं तालियाँ

सिग्‍नेचर ब्रिज पर किन्‍नरों ने निर्वस्त्र होकर की अश्लील हरकतें, सोसिल मीडिया पर विडियो वायरल, मामला दर्ज

दिल्ली: जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम के हॉस्टल में ऐथलीट पालेंदर चौधरी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

छठ पूजा 2018: दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने जारी की एडवाइजरी, 13 और 14 नवंबर को इन रास्तों पर जाने से बचें

सिग्नेचर ब्रिज संग्राम: भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने केजरीवाल और अमानतुल्लाह खान के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

दिल्ली: सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन के दौरान आप के विधायक अमानतुल्लाह खान ने सांसद मनोज तिवारी तो स्टेज से दिया धक्का, विडियो वायरल

दिल्ली के हयात होटल में पिस्टल दिखाकर गुंडागर्दी करने वाले आरोपी आशीष पांडेय को पटियाला हाउस कोर्ट से मिली जमानत

बीते हफ्ते छतरपुर के रॉयल एग्जीक्यूटिव क्लब में जमकर तालियों का दौर चला. एक कार्यक्रम के समय डिंपल राज और लक्की राज ने ऐसा माहौल जमाया कि लोग बेकाबू होकर सारी रात नाचे. इस प्रोगाम का आयोजन फेमस कम्पनी ‘मोक्ष इवेंट्स’ ने किया. शाम 8 बजे से शुरू हुआ गानों का दौर रात करीब 12 बजे तक चला. डिंपल राज और लक्की राज के गानों ने ऐसा समा बांधा कि लोग ‘वन्स मोर वन्स मोर’ कहते नज़र आये. बात करें लक्की राज की परफॉरमेंस की, तो उनका जलवा देखने लायक था. लक्की राज ने कई बेहतरीन गाने गाये. इतना ही नहीं ग़ज़ल गाकर भी उन्होंने अपनी अलग ही छाप छोड़ी. सबसे कमाल रहा लक्की का गाया ‘लागा चुनरी में दाग’. इस गाने के बाद तालियों की गड़गड़ाहट काफी देर तक चलती रही. एक बार जो तालियाँ बजनी शुरू हुईं, तो काफी देर तक चलती रहीं. इसके बाद रश्क-ऐ-कमर ने तो कार्यक्रम में जैसे जान ही भर दी हो. इस गाने के बाद तो सुनने वाले वंस मोर वंस मोर कहने लगे. चाहने वालों की पसंद पर लक्की राज ने इस गाने को कई बार गाया. सच में लक्की राज की आवाज़ में गज़ब की कशिश है जो सुनने वालों को अपनी ओर खींचती है.
 
डिंपल गर्ल डिंपल राज की बात करें तो उन्होंने भी कई बेहतरीन गाने गाये. उनकी माइलस्टोन परफॉरमेंस देखने को मिली “गली में आज चाँद” गाने में. उनके गाये सभी गाने एक से बढ़कर एक रहे. इसके अलावा, डिंपल राज के साथ बाद में स्टेज संभाला समीर श्रीवास्तव ने. समीर श्रीवास्तव और डिंपल राज की जुगलबंदी कई गानों में जानदार लगी. ‘बेखुदी में सनम’ और ‘तेरे चेहरे में जादू है’ खासा चर्चा में रहे. समीर श्रीवास्तव के गाये गाने ‘सयोनी’ और ‘सोलह बरस की बाली उम्र’ ऑडियंस ने खूब पसंद किये.

इसके बाद बारी आयी असली मजे की. जब लक्की राज और डिंपल राज ने एक के बाद एक नॉन स्टॉप बैक टू बैक कई गाने गाये. वैसे तो सभी गाने शानदार रहे परन्तु ‘आज कल तेरे मेरे प्यार के चर्चे’, ‘उड़ी जब जब जुल्फें’, को ख़ास तौर पर पसंद किया गिया.


रात 12 बजे तक इसी तरह मस्ती आलम बना रहा. इस कार्यक्रम की एक और खास बात रही, राज महाजन का मंच संचालन. इस शानदार ओर संगीत से भरे कार्यक्रम में स्टेज की बागडोर संभाली संगीतकार राज महाजन ने. यहाँ राज महाजन ने अपने नायाब तरीके से मंच से एंकरिंग की. राज महाजन सिर्फ एक संगीतकार ही नहीं बल्कि एक बेहतरीन कलाकार भी हैं. इसके अलावा कला को मंच देने का एक जरिया भी राज महाजन देते हैं. राज महाजन टैलेंट प्रमोटर भी हैं.
 
नाचते-गाते यह रात सुरों के साथ सुरीली होती चली गई. किसी ने क्या खूब कहा है-

नाचते-गाते बीते हर पल
जाने क्या हो आने वाले कल.



loading...