हवाला के कारोबार में अरविंद केजरीवाल शामिल: कपिल मिश्रा

2017-05-19_KapilMishrapc-arvind-india.JPG

आम आदमी पार्टी के विद्रोही नेता और पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने आज अरविंद केजरीवाल पर नए सिरे से हमला बोला. कपिल ने प्रेस कांफ्रेंस कर आप और केजरीवाल पर आरोपों की झड़ी लगा दी. कपिल ने मुकेश कुमार के दावों पर सवाल उठाए जिन्होंने कहा है कि उन्होंने ही आप को 2 करोड़ रुपए चंदा दिया था. कपिल ने इस दौरान मुकेश की कंपनी के लेटरहेड भी दिखाए.

कपिल मिश्रा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया है कि उन्होंने अपनी अवैध कमाई पर रोक लगने के डर से नोटबंदी का विरोध किया था. मिश्रा ने आज एक बार फिर केजरीवाल के खिलाफ हमला बोलते हुए कहा कि केजरीवाल ने फर्जी कंपनियों के माध्यम से चंदे के नाम पर अवैध कमाई की. खासकर उन्होंने ऐसे व्यक्ति के मार्फत काला धन अर्जित किया जिसे दिल्ली सरकार के वेट विभाग ने ही वेट अदायगी नहीं करने का नोटिस थमाया था. साल 2013 में केजरीवाल की अगुवाई में आप की पहली बार सरकार बनने से दस दिन पहले ही दिल्ली सरकार ने दिल्ली के कारोबारी मुकेश कुमार को वेट अदा नहीं करने का नोटिस थमाया था.

मिश्रा ने आरोप लगाया कि मुकेश कुमार ने इस कार्रवाई के बाद ही आप को दो करोड़ रुपये का चंदा दिया. उन्होंने कुमार को कालेधन के घोषित कारोबारियों का मुखौटा बताते हुए कहा कि केजरीवाल और बतौर राजस्व मंत्री मनीष सिसोदिया ने 2013 से अब तक कुमार के खिलाफ वेट चोरी के मामले में कोई कार्रवाई नहीं की.

मिश्रा ने केन्द्र सरकार के नोटबंदी के फैसले का भी केजरीवाल द्वारा विरोध करने के पीछे आप की अवैध कमाई बंद होने के खतरे को मुख्य वजह बताया. उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने देश भर में घूम घूम कर नोटबंदी के फैसले का इतना मुखर विरोध इसीलिये किया, क्योंकि मुख्यमंत्री के लिये कालेधन की उगाही करने वाले उनके सहयोगी के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय और अन्य एजेंसियों की छापेमारी से उनको अहसास हो गया कि अब चंदे के नाम पर काला धन उगाहने की उनकी मुहिम थम जाएगी.

बता दें कि मंत्री पद से बर्खास्त किए जाने के बाद कपिल अनशन पर भी बैठे थे. उनकी मांग थी कि राघव चड्ढा, संजय सिंह, दुर्गेश पाठक, आशीष खेतान जैसे नेताओं के विदेशी दौरों के खर्च का सार्वजनिक खुलासा किया जाए. अनशन के छठे दिन वह बेहोश हो गए थे जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था. अब वह दोबारा केजरीवाल पर हमलावर हैं और नए-नए दावे कर रहे हैं.

क्या क्या कहा कपिल शर्मा ने पढ़ें-

-कल एक शख्स मुकेश कुमार ने कहा कि मैंने अरविंद केजरीवाल को 2 करोड़ रुपए दिए हैं.

-सभी आप नेताओं से कहा गया कि इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया जाए.

-केजरीवाल ने ट्वीटर पर झूठा वीडियो दिखाया.

-मुकेश कुमार को बलि का बकरा बनाया गया.

-इस लेटर हेड को घर में बैठकर बनाया गया है.

-आप को हवाला को जरिए 2 करोड़ रुपए मिले हैं.

-केजरीवाल का हवाला नेटवर्क वाले शख्स से रिश्ता.

-केजरीवाल ने 2 करोड़ चंदे पर झूठ बोला.

-दो करोड़ रुपये कहां से आए? मैं केजरीवाल को चुनौती है तो वह बताएं कि दो करोड़ रुपये मुकेश शर्मा की कंपनी से आए. इससे पहले उन्होंने आयकर विभाग से कहा था कि उन्हें नहीं पता कि चंदा किसने दिया था.

-मुकेश कुमार कभी इस कंपनी में थे ही नही.

-लेटरहेड पर मुकेश कुमार से साइन नहीं.

-2014 में मुकेश कुमार कंपनी में नहीं थे

-कई फर्जी कंपनियों से आप को चंदा मिला.

-आप को चंदा देने वाली चारों कंपनियां फर्जी

-मुकेश की मजबूरी है कि वो सामने आकर वो कहे जो केजरीवाल ने कहने बोला है. नहीं तो उसकी कंपनी बंद हो जाएगी

-अब तक इससे बड़ा करप्शन का मामला सामने नहीं आया  है जिसमें सरकार को टैक्स ना मिले, वैट ना मिले, गलत ठेका मिले, चंदा पार्टी को मिल जाए.

-केजरीवाल का वो कौन सा राज है जिसे छुपाने के लिए कल झूठा वीडियो दिखाया गया.

-हेमप्रकाश शर्मा का नाम सामने ना आए इसलिए मुकेश कुमार को आगे किया गया.

-हेमप्रकाश की कंपनियां, उसे बचाने के लिए मुकेश को आगे किया.

– रोहित टंडन की कंपनी का डायरेक्टर है हेमप्रकाश.

-रोहित टंडन की कंपनी पर पड़ा था नोटबंदी के दौरान आईटी का छापा.

-चार लेटरहेड हमने दिखाए, दो में मुकेश से साइन थे, एक में हेमप्रकाश का और किसी एक दूसरे का था. जबकि हमें बताया गया कि चारों साइन मुकेश के थे.

-खुलासे के बाद मेरी हत्या हो सकती है. मुझ पर हमला करवाया जा सकता है.

-मेरे हाथ में केजरीवाल का कॉलर, सीधे तिहाड़ जेल जाएंगे.

-अरविंद केजरीवाल बहुत बड़ा माफिया, उसके सामने ये तो छोटा खुलासा है.

-केजरीवाल को हिंदुस्तान छोड़ना पड़ेगा.

-आप नेताओं के विदेशी दौरों की जानकारी छुपाई जा रही है.



loading...