जांच के नाम पर पुलिसवालों ने उतरवाए रेप पीड़िता के कपड़े

2017-05-02_murt-Haryana-Rape.jpg

14 वर्षीय नाबालिग रेप पीड़िता ने हरियाणा पुलिस पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए हैं. पीड़िता ने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर करके इंसाफ की गुहार लगाई है. पीड़िता का आरोप है कि पुलिसवालों जांच के नाम पर जबरन उसके कपड़े उतरवाए. पुलिस वालों ने कहा कि कपड़े उतारो जिससे हम देख पाएं कि रेप हुआ है या नहीं? इस दौरान एक पुलिसकर्मी ने तो उसकी जांघ तक छुई.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस रेखा मित्तल ने हरियाणा के डीजीपी को नोटिस जारी किया है. इसका जवाब पांच जुलाई तक दाखिल करना है. रेप पीड़िता की याचिक में कहा गया कि एक पुलिसवाले ने उसकी शर्ट का बटन खोलते हुए कहा कि बताओ रेप कैसे हुआ. उसके बाद पुलिसवाले ने उसकी जांघ पर हाथ रख दिया. दूसरे पुलिस वाले ने धमकी दी कि इस बारे में किसी से कुछ मत कहना, वर्ना मेडिकल जांच नहीं होगी.

23 नवंबर 2016 को पीड़िता ने कैथल में रेप का केस दर्ज कराया था. इसके बाद कैथल में प्रथम श्रेणी के न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने उसने रेप की दरिंदगी के साथ पुलिस कर्मियों की करतूत भी दर्ज की. पीड़िता का कहना है कि 23 नवंबर की रात पुलिसवाले उसे अपराधी के साथ ही अपराध जांच एजेंसी कार्यालय ले गए. वहां उन्होंने जबरन उसके कपड़े उतरवाए.

पीड़िता उसके साथ अपमानजनक व्यवहार करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ IPC की धाराओं और पॉक्सो ऐक्ट के तहत एफआईआर की मांग कर रही है. परिवार अपनी शिकायत लेकर डीजीपी से भी मिला लेकिन आरोपी पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज नहीं किया गया. उसके बाद अपने पिता की मदद से उसने हाईकोर्ट में याचिका दायर की.



loading...