किस प्रॉडक्ट पर कितना टैक्स, जानें- GST का रेट कार्ड

2017-05-19_Full-list-of-GST-rates.jpg

गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) काउंसिल ने  1 जुलाई से लागू होने वाली नई टैक्स व्यवस्था के मद्देनजर टैक्स स्लैब तैयार कर दिया है. इकॉनमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, फिलहाल 1,211 आइटम्स की दरें तय कर ली गई हैं, इनमें से ज्यादातर आइटम्स को 18 फीसदी स्लैब के दायरे में रखा गया है. जीएसटी लागू होने के बाद कई चीजों के दाम कम हो जाएंगे. सामानों को अलग-अलग टैक्स स्लैब में रखा गया है. ये टैक्स स्लैब 5, 12, 18 और 28 फीसदी रखा गया है. कई सामान ऐसे हैं जिन पर कोई टैक्स नहीं लगेगा. जानिए किन चीजों पर आपको कितना टैक्स लगेगा.

5 फीसदी टैक्स स्लैब में आइटम्स

फिश फिलेट, क्रीम, स्किम्ड मिल्ड पाउडर, ब्रैंडेड पनीर, फ्रोजन सब्जियां, कॉफी, चाय, मसाले, पिज्जा ब्रेड, रस, साबूदाना, केरोसिन, कोयला, दवाएं, स्टेंट और लाइफबोट्स जैसे आइटम्स पर 5 फीसदी टैक्स लगाया गया है.

12 पर्सेंट टैक्स स्लैब में आइटम्स

फ्रोजन मीट प्रॉडक्ट्स, बटर, घी, पैकेज्ड ड्राई फ्रूट्स, ऐनिमल फैट, सॉस, फ्रूट जूस, नमकीन, आयुर्वेदिक दवाएं, टूथ पाउडर, अगरबत्ती, रंगीन किताबें, पिक्चर बुक्स, छाता, सिलाई मशीन और सेल फोन जैसे आइटम्स 12 पर्सेंट के टैक्स स्लैब में रखे गए हैं.

18 फीसदी टैक्स स्लैब में आइटम्स

फ्लेवर्ड रिफाइंड शुगर, पास्ता, कॉर्नफ्लेक्स, पेस्ट्रीज और केक, प्रिजर्व्ड वेजिटेबल्स, जैम, सॉस, सूप, आइसक्रीम, इंस्टैंट फूड मिक्सेज, मिनरल वॉटर, टिशू, लिफाफे, नोट बुक्स, स्टील प्रॉडक्ट्स, प्रिंटेड सर्किट्स, कैमरा, स्पीकर और मॉनिटर्स जैसे आइटम्स को 18 फीसदी टैक्स स्लैब में रखा गया है.

28 फीसदी वाले टैक्स स्लैब में शामिल चीजें

चुइंग गम, गुड़, कोकोआ रहित चॉकलेट, पान मसाला, वातित जल, पेंट, डीओडरन्ट, शेविंग क्रीम, हेयर शैम्पू, डाइ, सनस्क्रीन, वॉलपेपर, सेरेमिक टाइल्स, वॉटर हीटर, डिशवॉशर, सिलाई मशीन, वॉशिंग मशीन, एटीएम, वेंडिंग मशीन, वैक्यूम क्लीनर, शेवर्स, हेयर क्लिपर्स, ऑटोमोबाइल्स, मोटरसाइकल, निजी इस्तेमाल के लिए एयरक्राफ्ट पर सबसे ज्यादा 28 फीसदी का टैक्स लगेगा.

इन आइटम्स पर नहीं लगेगा कोई टैक्स

फ्रेश मीट, फिश चिकन, अंडा, दूध, बटर मिल्क, दही, शहद, फल और सब्जियां, आटा, बेसन, ब्रेड, प्रसाद, नमक, बिंदी, सिंदूर, स्टांप. न्यायिक दस्तावेज, प्रिंटेड बुक्स, अखबार, चूड़ियां और हैंडलूम जैसे आइटम्स पर कोई टैक्स नहीं लगाया गया है.

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया कि कुल 1,211 वस्तुओं में से छह को छोड़कर अन्य के लिए जीएसटी दरें तय की गई हैं. जीएसटी परिषद कल सेवाओं की दरों पर विचार करेगी. अगर तब तक सभी वस्तुओं के लिए कर दरें तय नहीं होती हैं तो परिषद की एक और बैठक हो सकती है. जीएसटी दायरे से बाहर रहने वाली वस्तुओं की सूची को 19 मई को अंतिम रूप दिए जाने की उम्मीद है.सोने और बीड़ी पर भी कर की दरों पर विचार होगा.



loading...