दिल्ली सरकार सिर्फ 3 साल में बनाएगी नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर, 29 किमी का सफर 20 मिनट में होगा तय

दिल्ली: पति ने बच्चों के सामने की पत्नी की हत्या, सिर पर हथौड़ा मार कर ली जान

नहीं रहे दिल्ली हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस राजिंदर सच्चर, 94 साल की उम्र में हुआ निधन

अतुल माहेश्वरी छात्रवृति 2017 में उपराष्ट्रपति ने किया बच्चों को सम्मानित, उपराष्ट्रपति भवन में सम्पन्न हुआ अवार्ड समारोह

दिल्ली वालों के लिए खुशखबरी: बिन बताए बिजली कटी तो हर घंटे में मिलेंगे इतने रुपए

शर्मनाक: कैब में महिला के सामने उबेर ड्राइवर ने की गंदी हरकत, गिरफ्तार

होली में डीयू की छात्राओं पर फेंके गुब्बारे में सीमेन नहीं था, फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी का दावा, भेजे गये सैंपल में ऐसा कुछ नहीं आया

2017-07-05_igi54.jpg

दिल्ली सरकार के सबसे बड़े प्रोजेक्ट में से एक नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर के बनने का रास्ता अब साफ हो गया है. जिसके बाद 28.6 किमी लंबे वजीराबाद से एयरपोर्ट का सफर महज़ 20 मिनट में तय किया जा सकेगा.

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को सिग्नेचर ब्रिज से एनएच-8 पर एयरपोर्ट तक के इस प्रोजेक्ट को लेकर PWD ने LG के समक्ष प्रेजेंटेशन दी थी. LG ने यूटीपैक को जल्द से जल्द इस कॉरिडोर को क्लियर करने को कहा है.

बताया जा रहा है कि ये कॉरिडोर पूरी तरह से सिग्नल फ्री होगा. इससे सआउटर रिंग रोड पर भी ट्रैफिक का बोझ कम होगा. इस कॉरिडोर में 4 किमी की अंडरग्राउंड टनल होगी. इसमें नजफगढ़ नाले पर से एलिवेटिड कॉरिडोर भी होगा, जो 9 किमी का होगा.

अभी वजीराबाद से एयरपोर्ट जाने में एक से तीन घंटे का समय लगता है, लेकिन कॉरिडोर बनने के बाद 20 से 30 मिनट में एयरपोर्ट पहुंचा जा सकेगा.

वहीं, इस तरह के बड़े प्रोजेक्ट में आमतौर पर सात से दस वर्ष तक का वक्त लग जाता है, लेकिन दिल्ली LG ने 3 वर्ष के भीतर इस कॉरिडोर को बनाने का दावा किया है. प्रोजेक्ट के लिए करीब 6 हजार करोड़ रुपये का बजट रखा गया है.

 



loading...