पेश है राज महाजन की जिंदगी को पर्दे पर दर्शाता गाना “मजबूरियां”, डॉ. हरीओम (IAS) की मखमली आवाज़ में

Audio: विश्वस्तर पर रिलीज़ हुआ “तुम बिन लागे न जिया”, मिला चाहने वालों का खूब प्यार

‘यार तू प्रोफेशनली क्यूँ नहीं गाता’...सीखें ‘संगीत’ मज़ेदार तरीके से, DTC लाया है शौकिया-उभरते हुए कलाकारों के लिए ‘गोल्डन मेम्बरशिप ऑफर’

राज महाजन की चुनिन्दा धुनों में से एक ‘तुम बिन लागे न जिया’, पहली बार सुनते ही गाने को उतावला हो गया था – लक्की राज

मोक्ष म्यूज़िक लाया है पहली बार इन्फॉर्मेशनल सॉंग, ‘Avoid the Fast Food’ जैसा लज़ीज़ गाना मैंने पहली बार गया है – डिंपल राज

DTC: संगीत सफ़र में छाये रहे राज महाजन के दो सुरीले रत्न “लक्की राज-डिंपल राज”, एक के बाद एक की ‘डायनामाइट परफॉरमेंस’

टैलेंट के कद्रदान राज महाजन को मिला टैलेंट का ओवरडोज़ ‘लक्की राज’, बहुमुखी प्रतिभा के धनी लक्की राज

2016-10-19_Majbooriyaan-Album-Cover.jpg

आज रिलीज़ होने जा रही है संगीतकार राज महाजन की एक और नयी पेशकश. जो सीधा पहुंचेगी आपके दिलों तक. जिसे अपनी आवाज़ से मखमली बनाया है डॉ. हरिओम ने. आपको जानकार हैरानी होगी पेशे से डॉ. हरीओम एक आईएएस ऑफिसर हैं. इस गाने में कई ख़ास बातें हैं. गाने का नाम है “मजबूरियां”.  इस गाने के बारे में राज कहते हैं कि “यह गाना मेरे दिल के बेहद करीब है. सही मायनों में देखा जाए तो मेरी जिंदगी का दर्पण है मजबूरियां गाना. वैसे भी हर गाना, हर कहानी किसी न किसी से प्रेरित होती है. कहीं न कहीं उसका जुड़ाव होता है. वैसे ही इस गाने में आपको मेरी जिंदगी की झलक देखने को मिलेगी. सिर्फ मेरी ही नहीं हर इंसान की ज़िन्दगी में एक बार ऐसा दौर जरूर आता है जब वह निराश, हताश और मजबूर होता है. मैं समझता हूँ इस गाने को सुनकर आप सभी लोग इसे अपनी ही कहानी समझेंगे.”

कैसी हैं यह “मजबूरियां”. जितना इसे खूबसूरती से लिखा गया है उससे भी कई बेहतर तरीके से इसे गाया है. डॉ. हरीओम ने इसे अपनी दिल की गहराईयों से गाया है. इस बारे में आगे राज कहते हैं कि पहले भी डॉ. हरीओम ने कई गाने गाए हैं. लेकिन जो जुड़ाव, जो गहराई इस गाने में निकल कर सामने आई है. मैं खुद हैरान हूँ. वाकई में बहुत दिल से गया है. मुझे लगता है इस गाने को इनसे बेहतर कोई और गा ही नहीं सकता था.”

एक इंसान जिंदगी में किस हद तक मजबूर हो सकता है. लाचारी महसूस करता है बस इसी के बारे में है गाना "मजबूरियां". वहीँ इस बारे में गायक डॉ. हरीओम कहते हैं कि "इसका सारा क्रेडिट राज को जाता है क्योंकि इन्हें संगीत बहुत ही अच्छी समझ है. मैं मानता हूँ एक बेहतर गाना तीन लोगों की समझ से आता है संगीत निर्देशक, रिकार्डिस्ट और सिंगर. तीन लोग जब एक ही वेवलेंथ पर काम करते हैं तो ‘मजबूरियां’ गाना बनता है." 

वेल अब मजबूरियां गाने का ऑडियो रिलीज़ हो रहा है,बहुत जल्द ऑडियंस इसका विडियो भी देख पायेंगे. विडियो मं भी आपको ऐसा ही जुड़ाव और अपनापन देखने को मिलेगा जैसे कि इसके ऑडियो में है. आज ये गाना सभी सोशल साइट्स पर विश्व स्तर पर रिलीज़ हो रहा है. आप इसे saavn.com, gaana.com, deezer.com, soundcloud.com, Hungama.com, 7digital.com, gaana24.com, spotify.com, Itunes.com, amazon.com, play.google.com, timmusic.it पर सुन सकते हैं. इसके अलावा भी कई साइट्स पर आप इसे सुन और डाउनलोड कर सकते हैं.

गौरतलब हो कि मोक्ष म्युज़िक के गानों को पूरे विश्व में लगभग 50 लाख लोग देखते-सुनते हैं और यह तादाद दिन पर दिन बढ़ती जा रही है. देखिये राज महाजन और डॉ. हरिओम का मजबूरियां गाने के बारे में क्या कहना है.



loading...