अमेरिका: H1-B वीजा नियमों में होगा बदलाव, 80 फीसदी भारतीय महिलाएं हो जाएंगी बेरोजगार

2018-04-25_hi54.jpeg

यूएस का प्रशासन एच-1 बी वीजा धारकों के जीवनसाथियों के लिए ऐसी योजना बना रहा है, जिससे वहां मौजूद 80 फीसदी भारतीय महिलाएं बेरोजगार हो जाएंगी. इस फैसले के बाद 70 हजार भारतीयों की नौकरी पर तलवार लटकी है, इसमें ज्यादातर महिलाएं शामिल हैं.

एक अमेरिकी सांसद ने बताया कि प्रशासन एच-1 बी वीजा धारकों के जीवनसाथियों को कानूनी रूप से मिल रहे वर्क परमिट को खत्म करने की योजना बना रहा है. अगर ऐसा होता है तो इस फैसले से हजारों भारतीयों के लिए मुश्किल खड़ी हो जाएगी. आपको बता दें कि इस नियम को पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में शुरू किया गया था, अगर इसे खत्म किया जाता है तो 70 हजार एच-4 वीजा धारकों पर असर पड़ेगा. 

गौरतलब है कि एच-1 वीजा धारकों के जीवनसाथी को एच-4 वीजा जारी किया जाता है, जिसमें बड़ी संख्या में उच्च कौशल वाले भारतीय पेशेवर शामिल हैं. ओबामा प्रशासन के फैसले से भारतीय अमेरिकियों को सबसे ज्यादा फायदा पहुंचा था. एच-4 वीजा धारकों में 90 फीसदी भारतीय हैं.

हालांकि, अमेरिकी नागरिकता एवं आप्रवासन सेवा (यूएससीआईएस) के निदेशक फ्रांसिस सिस्ना ने सीनेटर चक ग्रैस्ले को लिखे पत्र में बताया कि इन गर्मियों के बाद इस फैसले का आधिकारिक आदेश आ सकता है. यह कदम अमेरिकी नागरिकों के हितों को ध्यान में रखते हुए उठाया जा रहा है. 



loading...