रांची में बुराड़ी जैसी घटना, एक ही परिवार के 7 लोगों ने खुदकुशी कर दी जान

स्वामी अग्निवेश को लेकर झारखंड मंत्री सीपी सिंह ने कहा- 'स्वामी नहीं फ्रॉड हैं अग्निवेश, विदेशी चंदे पर होता है गुजारा

झारखंड: BJP युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं ने स्वामी अग्निवेश को पीटा, फाड़े कपड़े

झारखंड में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में किया विस्फोट, 6 जवान शहीद, 4 घायल

झारखंड में मानसून ने पकड़ी रफ्तार, बिजली गिरने से 6 की मौत, बंगाल, मुंबई में भी जोरदार बारिश

झारखंड: मानव तस्कररी के खिलाफ जागरूकता फैला रहीं 5 लड़कियों से गैंगरेप, पुलिस में मामला दर्ज

महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी ने माँगा गन का लाइसेंस, कहा- घर में अकेली रहती हूं, जान को खतरा रहता है

2018-07-30_ranchi-family-suscide.jpg

दिल्ली के बुराड़ी और झारखंड के हजारीबाग जैसा एक और मामला रांची से सामने आया है। यहां एक ही परिवार के सात लोगों की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई है। मरने वालों में पांच वयस्क और दो बच्चे शामिल हैं। आशंका जताई जा रही है कि सभी लोगों ने आत्महत्या कर ली है। बताया जा रहा है कि परिवार कांके इलाके के बोड़या में किराये के मकान में रहता था।

इस घटना से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। बताया जा रहा है कि इनमें एक व्यक्ति का शव फांसी के फंदे से लटका मिला, जबकि बाकी लोगों के शव बिस्तर पर पड़े थे। वहीं, घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मौके पर एफएसएल की टीम को भी बुलाया गया है। फिलहाल मामले की छानबीन चल रही है।

पुलिस के मुताबिक, शुरुआती जांच में ये सामने आया है कि आर्थिक तंगी की वजह से सभी लोगों ने एक साथ आत्महत्या कर ली। परिवार आर्थिक रूप से काफी कमजोर था, जिसकी वजह से वो घर का किराया भी नहीं दे पा रहे थे। हालांकि पुलिस कई बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए मामले की जांच कर रही है। 

सोमवार की सुबह इस घटना का पता तब चला जब दीपक झा की बेटी को स्कूल ले जाने के लिए गाड़ी आई। इस दौरान ड्राइवर ने काफी हॉर्न बजाया, लेकिन घर से कोई भी बाहर नहीं निकला। इसके बाद मकान मालिक के ही घर में रह रहा एक बच्चा उसे बुलाने के लिए चला गया। लेकिन वहां का नजारा देख वो घबराकर वहां से भाग आया और अपने परिवार को इसकी सूचना दी। लोगों ने खिड़की से झांककर देखा तो सभी के होश उड़ गए। लोगों ने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी।

मकान मालिक ने बताया कि बिहार के भागलपुर के रहने वाले दीपक झा अपने परिवार के साथ मकान में रहते थे। वो आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। पूरा परिवार कर्ज के बोझ तले दबा हुआ था।

बताया जा रहा है कि मृतक दीपक झा गोदरेज कंपनी में सेल्समैन का काम करते थे। वो अपने माता-पिता, पत्नी, दो बच्चे और छोटे भाई के साथ रहते थे। छोटा भाई भी किसी कंपनी में ही प्राइवेट नौकरी करता था। अभी उसकी शादी नहीं हुई थी।

बता दें कि इससे पहले झारखंड के ही हजारीबाग में भी ऐसी ही घटना सामने आई थी, जिसमें कर्ज से परेशान होकर एक ही परिवार के 6 सदस्यों ने आत्महत्या कर ली थी। इसके अलावा, दिल्ली के बुराड़ी में भी पिछले दिनों एक ही परिवार के 11 लोगों ने आत्महत्या कर ली थी। फिलहाल मामले की जांच चल रही है।



loading...