ताज़ा खबर

रूस में आपातकालीन लैंडिंग के दौरान विमान में लगी आग, 41 लोगों की मौत

2019-05-06_PlaneCrash.jpg

रूस में रविवार को हुए विमान हादसे में 41 लोगों की मौत हो गई और कई जख्मी हो गए. रिपोर्ट के मुताबिक, रूस की सरकारी विमानन कंपनी एरोफ्लॉट के विमान में उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद आग लग गई. इसके बाद विमान की आपात लैंडिंग कराई गई. विमान में 78 यात्री सवार थे. अधिकारियों ने बताया कि मरने वालों में चालक दल की एक सदस्य भी है. वहीं मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका भी जताई गई है. विमान राजधानी मॉस्को से उत्तरी शहर मरमांस्क जा रहा था. 

सोशल मीडिया पर उपलब्ध फुटेज में एरोफ्लोट का सुखोई सुपरजेट 100 विमान शेरेमेत्येवो अंतरराष्ट्रीय हवाई-अड्डे पर उतरता हुआ और आग की लपटों से घिरा हुआ दिख रहा है. यात्री विमान से निकलने और दूर भागने की कोशिश करते हुए दिख रहे हैं.

मॉस्को के स्वास्थ्य मंत्री ने दिन में बताया कि जांचकर्ताओं से मिली सूचना के अनुसार 37 लोगों को सुरक्षित बचाया गया है. इनमें से 11 लोग घायल हैं. प्रधानमंत्री दमित्रि मेदवेदेव ने एक विशेष समिति को हादसे की जांच करने का आदेश दिया है.

एयरोफ्लोट कंपनी ने अपनी वेबसाइट पर हादसे में जीवित बचे लोगों के नाम प्रकाशित किए हैं. इस सूची में कुल 33 नाम हैं. कंपनी ने साथ ही आपातकाल टेलीफोन नंबर भी जारी किए हैं. रूस की सरकारी विमानन कंपनी 'एयरोफ्लोट' ने कहा है कि विमान को तकनीकी कारणों से एयरपोर्ट पर लौटना पड़ा. हालांकि कंपनी ने इस बारे में विस्तार से नहीं बताया कि तकनीकी वजह क्या थी. सोशल मीडिया पर शेयर हो रहे वीडियो में दिखाई दे रहा है कि यात्रियों को विमान के आपातकालीन द्वार से निकाला जा रहा है.

रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि दुर्घटना का शिकार हुआ विमान सुखोई सुपरजेट-100 है जो मॉस्को के शेरेमेत्येवो हवाई अड्डे से मरमांस्क जा रहा था. अपने बयान में एयरोफ्लोट कंपनी ने कहा है कि विमान उड़ान भर चुका था लेकिन कुछ देर बार तकनीकी कारणों से उसे वापस एयरपोर्ट पर लौटना पड़ा जहां रनवे पर लैंड करते समय विमान के इंजन में आग लग गई. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों से प्रति संवेदना जताई है.



loading...