राजस्थान में आंधी-तूफान ने ली 22 जानें

राजस्थान में राहुल गांधी ने कहा- केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनी तो देशभर के किसानों का कर्जा माफ करेंगे

राजस्थान सरकार में हुआ मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, गहलोत के पास 9 तो पायलट के पास 5 मंत्रालय

राजस्थान: गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल में 17 नए चेहरों को मिली जगह, 13 कैबिनेट और 10 राज्यमंत्री ने ली शपथ

राजस्थान: आज होगा गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार, 23 विधायक बनेंगे मंत्री

राजस्थान सरकार ने भी किसानों का कर्ज माफ करने का किया ऐलान, सरकारी खजाने पर 18000 करोड़ का पड़ेगा बोझ

गहलोत-पायलट के शपथ ग्रहण समारोह में वसुंधरा राजे ने भतीजे सिंधिया को गले लगाकर दिया आशीर्वाद

2018-05-03_rajasthan.jpg

देश की कई हिस्सों में बारिश-आंधी-तूफान ने अपना कहर दिखाया. राजस्थान में बुधवार को आई आंधी के कारण 20 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई, वहीं कई घायल हैं. आपदा प्रबंधन और राहत सचिव ने इसकी सूचना दी. राजस्थान के चार जिलों में इसका ज्यादा प्रभाव पड़ा है. भरतपुर, धौलपुर, अलवर और झुंझुनूं में कई मौतें हुई हैं. बुधवार शाम करीब 6 बजे आए बवंडर की रफ्तार 100 किमी प्रति घंटे बताई जा रही है. इन जिलों में देर रात तक बिजली गुल रही. इस दौरान कई पेड़ और बिजली के पोल गिर गए. कई जगह सड़कों पर और रेलवे ट्रैक पर पेड़ पोल गिरने से यातायात में काफी परेशानी आई. राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मरने वालों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है. उन्होंने बताया कि संबंधित विभाग को आदेश दिया गया है कि वह शीघ्र ही लोगों को सहायता मुहैया कराएं. मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, आंधी-तूफान के बाद अलवर, भरतपुर व धौलपुर जिलों में उपजे हालात से मन व्यथित है. मैंने संबंधित जिला अधिकारियों से बात कर सभी घायलों को इलाज एवं प्रभावितों को हरसंभव सहायता सुनिश्चित करने के लिए कहा है. प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं. 



loading...