राजस्थान में आंधी-तूफान ने ली 22 जानें

राहुल गांधी ने रोड शो में दिखाया दमखम, थोड़ी देर बाद कार्यकर्ताओं को करेंगे संबोधित

BJP विधायक ज्ञानदेव आहूजा का एक और विवादित बयान- नेहरू नहीं थे पंडित, गाय और सुअर खाते थे

अलवर में अतिक्रमण हटवाने के लिए तहसीलदार को लट्ठ दिखाकर जबरन लाई महिलाएं

सीएम वसुन्धरा राजे ने 55 पॉक्सो कोर्ट को दी स्वीकृति, अब यौन अपराधियों को जल्द मिल सकेगी सजा

किकी चैलेंज से लोगों को दूर रखने के लिए राजस्थान पुलिस ने जिस व्यक्ति को मृत बताया वह जिंदा निकला

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने अलवर लिंचिंग को लेकर सरकार पर बोला हमला, कहा- यह पीएम का ‘क्रूर न्यू इंडिया’, बीजेपी बोली आप नफरत के सौदागर

2018-05-03_rajasthan.jpg

देश की कई हिस्सों में बारिश-आंधी-तूफान ने अपना कहर दिखाया. राजस्थान में बुधवार को आई आंधी के कारण 20 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई, वहीं कई घायल हैं. आपदा प्रबंधन और राहत सचिव ने इसकी सूचना दी. राजस्थान के चार जिलों में इसका ज्यादा प्रभाव पड़ा है. भरतपुर, धौलपुर, अलवर और झुंझुनूं में कई मौतें हुई हैं. बुधवार शाम करीब 6 बजे आए बवंडर की रफ्तार 100 किमी प्रति घंटे बताई जा रही है. इन जिलों में देर रात तक बिजली गुल रही. इस दौरान कई पेड़ और बिजली के पोल गिर गए. कई जगह सड़कों पर और रेलवे ट्रैक पर पेड़ पोल गिरने से यातायात में काफी परेशानी आई. राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मरने वालों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है. उन्होंने बताया कि संबंधित विभाग को आदेश दिया गया है कि वह शीघ्र ही लोगों को सहायता मुहैया कराएं. मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, आंधी-तूफान के बाद अलवर, भरतपुर व धौलपुर जिलों में उपजे हालात से मन व्यथित है. मैंने संबंधित जिला अधिकारियों से बात कर सभी घायलों को इलाज एवं प्रभावितों को हरसंभव सहायता सुनिश्चित करने के लिए कहा है. प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं. 



loading...