ताज़ा खबर

गुजरात: अक्षरधाम मंदिर पर आतंकी हमले में शामिल आरोपी 16 साल बाद गिरफ्तार

Vibrant Gujarat Summit में मुकेश अंबानी ने प्रधानमंत्री मोदी से ‘डाटा के औपनिवेशीकरण' के खिलाफ कदम उठाने का किया आग्रह

वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने कहा- कारोबार सुगमता रैंकिंग में भारत को टॉप 50 में पहुंचाने का लक्ष्य

गुजरात: चलती ट्रेन में बीजेपी के पूर्व विधायक जयंती भानुशाली की बदमाशों ने गोली मारकर की हत्या

अहमदाबाद: हॉस्पिटल से 35 किमी दूर बैठे थे डॉक्टर, रोबोट के जरिए किया दिल का ऑपरेशन

गुजरात दंगा: पीएम मोदी के खिलाफ जकिया जाफरी की याचिका पर अब 26 नवंबर को सुनवाई करेगा सुप्रीमकोर्ट

गुजरात दंगा: पीएम मोदी के खिलाफ जकिया जाफरी की याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा सुप्रीमकोर्ट

2018-11-26_FarooqShaikh.jpg

अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने सोमवार को गुजरात के अक्षरधाम मंदिर पर आतंकी हमले के आरोपी मोहम्मद फारूक शेख को गिरफ्तार कर लिया है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, वह पिछले 16 साल से फरार चल रहा था. वह इस दौरान दुबई में रह रहा था और आज अपने रिश्तेदारों से मिलने अहमदाबाद एयरपोर्ट आया हुआ था, जहां उसे क्राइम ब्रांच के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया.

आपको बता दें कि 24 सितंबर, 2002 को गुजरात के गांधीनगर में अक्षरधाम मंदिर परिसर में स्वचालित हथियारों और ग्रेनेड से लैस आतंकियों ने आत्मघाती हमला किया था. इस हमले में 32 श्रद्धालु मारे गए थे. इसके अलावा तीन कमांडो और एक कांस्टेबल शहीद हुए थे.

पोटा अदालत ने सभी आरोपियों को दोषी ठहराते हुए तीन को मौत की सजा और एक को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. गुजरात हाईकोर्ट ने निचली अदालत के इस फैसले पर मुहर लगाई थी लेकिन मई, 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने सभी दोषियों को आरोपमुक्त करते हुए बरी कर दिया. 

इस मामले की जांच करने वाली एजेंसी को लापरवाही बरतने के लिए कड़ी फटकार लगाते हुए शीर्ष अदालत ने कहा था कि आरोपियों को दोषी साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं. अभियोजकों ने दावा किया था कि आरोपियों में से कुछ के जैश ए मोहम्मद और लश्कर ए ताइबा जैसे आतंकी संगठनों से संबंध थे, लेकिन इसे वे अदालत में प्रमाणित नहीं कर पाए.



loading...