ताज़ा खबर

गुजरात: अक्षरधाम मंदिर पर आतंकी हमले में शामिल आरोपी 16 साल बाद गिरफ्तार

गुजरात: बीजेपी में शामिल हुए कांग्रेस के पूर्व विधायक अल्पेश ठाकोर और धवलसिंह जाला, जीतू वाघानी ने दिलाई सदस्यता

गुजरात: ठाकोर समुदाय का तुगलकी फरमान, अविवाहित लड़कियों के मोबाइल रखने पर लगाई पाबंदी, पकड़े जाने पर देना होगा 1.5 लाख का जुर्माना

सुप्रीम कोर्ट से आसाराम को बड़ा झटका, सूरत रेप केस में जमानत याचिका खारिज

मानहानि मामले में राहुल गांधी को अहमदाबाद की अदालत से मिली जमानत, नोटबंदी को लेकर बैंक पर लगाए थे आरोप

गुजरात: प्रेम विवाह करने वाले दलित युवक की पुलिस के सामने ससुराल वालों ने की हत्या

गुजरात में कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें, अल्पेश ठाकोर, धवलसिंह जाला ने राज्यसभा उपचुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद विधायक पद से दिया इस्तीफा

2018-11-26_FarooqShaikh.jpg

अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने सोमवार को गुजरात के अक्षरधाम मंदिर पर आतंकी हमले के आरोपी मोहम्मद फारूक शेख को गिरफ्तार कर लिया है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, वह पिछले 16 साल से फरार चल रहा था. वह इस दौरान दुबई में रह रहा था और आज अपने रिश्तेदारों से मिलने अहमदाबाद एयरपोर्ट आया हुआ था, जहां उसे क्राइम ब्रांच के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया.

आपको बता दें कि 24 सितंबर, 2002 को गुजरात के गांधीनगर में अक्षरधाम मंदिर परिसर में स्वचालित हथियारों और ग्रेनेड से लैस आतंकियों ने आत्मघाती हमला किया था. इस हमले में 32 श्रद्धालु मारे गए थे. इसके अलावा तीन कमांडो और एक कांस्टेबल शहीद हुए थे.

पोटा अदालत ने सभी आरोपियों को दोषी ठहराते हुए तीन को मौत की सजा और एक को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. गुजरात हाईकोर्ट ने निचली अदालत के इस फैसले पर मुहर लगाई थी लेकिन मई, 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने सभी दोषियों को आरोपमुक्त करते हुए बरी कर दिया. 

इस मामले की जांच करने वाली एजेंसी को लापरवाही बरतने के लिए कड़ी फटकार लगाते हुए शीर्ष अदालत ने कहा था कि आरोपियों को दोषी साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं. अभियोजकों ने दावा किया था कि आरोपियों में से कुछ के जैश ए मोहम्मद और लश्कर ए ताइबा जैसे आतंकी संगठनों से संबंध थे, लेकिन इसे वे अदालत में प्रमाणित नहीं कर पाए.



loading...