जलीकट्टू: दो सुरक्षा घेरों को तोड़कर सांड ने लगाई छलांग, 19 साल के युवक को रौंदकर मार डाला

करुणानिधि की मौत के बाद परिवार में सत्ता संघर्ष शुरू, अलागिरी ने कहा- असली काडर मेरे साथ

टीवीएस मोटर्स के चेयरमैन पर मूर्ति चोरी का आरोप, छह सप्ताह तक गिरफ्तारी से मिली राहत

राजीव गांधी हत्याकांड मामले में केंद्र ने सुप्रीमकोर्ट में कहा- हत्यारों को छोड़ने से खतरनाक परंपरा शुरू हो जाएगी

राजाजी हाल से करुणानिधि की आखिरी विदाई शुरू, भगदड़ में 2 लोगों की मौत

मद्रास हाई कोर्ट ने मरीना बीच पर करुणानिधि के अंतिम संस्कार की दी इजाजत, PM मोदी ने राजाजी हॉल पहुंचकर दी श्रद्धांजलि

एमके स्टालिन ने पिता करुणानिधि को लिखा भावुक पत्र, क्या आखिरी बार आपको अप्पा कह सकता हूं

2018-01-15_19-year-old-Spectator-Dies-Jallikattu.jpg

तमिलनाडु की मदुरै में जलीकट्टू खेल के दौरान सोमवार को एक शख्स की मौत हो गई। इस दौरान 25 लोग घायल भी बताए जा रहे हैं जिनमें से 6 लोगों को ईलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती किया गया है। इस जानलेवा खेल में मरने वाले शख्स की पहचान डिंडीगुल के सनारपट्टी के 19 वर्षीय एस कालीमुत्थु के रूप में हुई है। बेकाबू बैल ने जलीकट्टू देखने आए कलिमुथु समेत कई लोगों को नुकसान पहुंचाया। हालांकि इसमें कलिमुथु की मौत हो गई। इस साल इस खेल में तमिलनाडु में यह पहली मौत है। इस हादसे के बाद एक बार फिर इस खेल के दौरान सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

बता दें कि विवादों में रहने वाले जल्लीकट्टू खेल का आयोजन तमिलनाडु के मदुरै में किया गया है। दक्षिण भारत में मनाए जाने वाले पोंगल त्योहार पर फसलों की कटाई को दौरान जल्लीकट्टू का आयोजन किया जाता है। दरअसल, जानलेवा माहौल बन जाने के चलते ये खेल अक्सर विवादों में रहा है। 

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट इस खेल पर रोक भी लगा चुका है और तमिलनाडु सरकार को नोटिस भी जारी किया गया। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल राज्य सरकार से नाराजगी जताते हुए कहा था कि आदेश का पालन क्यों नहीं किया गया? साथ ही कानून व्यवस्था ठीक न रख पाने पर फटकार भी लगाई। पिछले साल फरवरी में हुए जल्लीकट्टू में 900 से ज्यादा सांडो और 1200 से ज्यादा प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था।



loading...