गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती के उपलक्ष्य में 1,303 भारतीय सिख श्रद्धालु करतापुर साहिब के लिए हुए रवाना

Kartarpur Corridor Live: PM नरेंद्र मोदी ने जनता को समर्पित किया करतारपुर गलियारा, कहा- सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं

करतारपुर कॉरिडोर Live: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेर साहिब गुरुद्वारे में टेका मत्था

पंजाब के गुरदासपुर में पटाखा फैक्ट्री में धमाका, 18 लोगों की मौत, कई के मलबे में दबे होने की आशंका

पंजाब: सीएम अमरिंदर सिंह ने स्वीकार किया नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा, अंतिम फैसले के लिए गवर्नर को भेजा

नवजोत सिंह सिद्धू ने सीएम अमरिंदर सिंह को भेजा इस्तीफा, कैप्टन बोले- सोच विचार कर ही करेंगे फैसला

पंजाब: लुधियाना की सेंट्रल जेल में कैदियों और पुलिस में फायरिंग, 1 की मौत, DSP की गाड़ी फूंकी

2019-11-05_Sikh.jpg

गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती के उपलक्ष्य में होने वाले समारोहों में भाग लेने के लिए मंगलवार को कुल 1,303 भारतीय सिख श्रद्धालु अटारी सीमा से होकर पाकिस्तान के लिए रवाना हुए. भारत में सिख तीर्थों का प्रबंधन करने वाली संस्था शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (एसजीपीसी) द्वारा आयोजित तीर्थयात्रा का समापन 14 नवंबर को होगा.

श्रद्धालु पंजाब प्रांत में गुरु नानक देव के जन्म स्थान -ननकाना साहिब, हसनअब्दल शहर में पंजा साहिब और करतारपुर साहिब सहित सिख धर्म स्थलों में जाएंगे. माना जाता है कि भारत से लगी सीमा से लगभग 4 किलोमीटर दूर स्थित करतारपुर गुरुद्वारा 16 वीं शताब्दी में गुरु नानक की मृत्यु वाली जगह पर बनाया गया है. इसे 4.2 किलोमीटर लंबे करतारपुर साहिब कॉरिडोर से जोड़ा जाने वाला है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे और 12 नवंबर को होने वाले गुरु देव के 550वें जयंती समारोह के अवसर पर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने वाले पहले सिख श्रद्धालुओं के पहले जत्थे को रवाना करेंगे.


 



loading...